• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • दो साल से अटके सड़क और नाली निर्माण के 50 करोड़ के काम निरस्त
--Advertisement--

दो साल से अटके सड़क और नाली निर्माण के 50 करोड़ के काम निरस्त

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 07:25 AM IST

News - इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल आपकी कॉलोनी में सड़क और नाली से लेकर बाउंड्रीवॉल के ऐसे निर्माण जो दो साल से...

दो साल से अटके सड़क और नाली निर्माण के 50 करोड़ के काम निरस्त
इंफ्रास्ट्रक्चर रिपोर्टर | भोपाल

आपकी कॉलोनी में सड़क और नाली से लेकर बाउंड्रीवॉल के ऐसे निर्माण जो दो साल से स्वीकृत हैं, लेकिन अब तक उनका काम चालू नहीं हो पाया हो। निगम अपने अगले बजट में 50 करोड़ के इन कामों को निरस्त करने जा रहा है। इसके बाद नए बजट में नए सिरे से इन्हें बुक कराना होगा। अप्रैल में बजट जारी होने के बाद जब तक यह प्रक्रिया पूरी होकर वर्क ऑर्डर जारी होगा, विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हो जाएगी। ऐसे में ज्यादातर काम अटक जाएंगे।

पिछले साल एक करोड़ रुपए से त्रिलंगा तिराहे से शाहपुरा तिराहे तक सड़क निर्माण के लिए वर्क ऑर्डर जारी हुआ था। इसका भूमिपूजन भी हो गया था। लेकिन काम अब तक चालू नहीं हुआ। इसी तरह कल्पना नगर में करीब 30 लाख रुपए की सीसी रोड के लिए 25 अप्रैल 2014, साईंराम कॉलोनी में 14 लाख सीसी सड़क निर्माण के लिए 4 नवंबर 2013 और रचना नगर में 67 लाख की लागत सीसी रोड और नाली निर्माण के लिए 3 अक्टूबर 2013 को वर्क ऑर्डर दिए थे। लेकिन संबंधित कांट्रेक्टर ने अब तक काम शुरू नहीं किया है। यह स्थिति पूरे शहर में है। दोनों दलों के 85 पार्षदों में से कम से कम 60 पार्षद यह शिकायत करते रहते हैं कि उनके वार्ड में स्वीकृत विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं। इनमें से बड़ी संख्या ऐसे विकास कार्यों की है जिनका वर्कऑर्डर जारी होने के बाद कांट्रेक्टर काम नहीं कर रहे।

निगम के अगले बजट में नए सिरे से होगी बुकिंग

80 करोड़ सितंबर में ही खर्च

चालू वित्त वर्ष के बजट में नगर निगम ने पिछले सालों के बकाया भुगतान के लिए 80 करोड़ रुपए का प्रावधान किया था। यह राशि पिछले साल सितंबर में ही खत्म हो गई। अभी कम से कम 50 करोड़ रुपए के भुगतान होना हैं। यदि ऐसे पुराने काम जो अभी चालू नहीं हुए हैं उन्हें जोड़ लिया जाए तो यह राशि 100 करोड़ रुपए हो जाएगी।

नए कार्यों की बुकिंग पर रोक

बजट की प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही नए कार्यों की बुकिंग पर अघोषित रोक लग गई है। सिविल इंजीनियरिंग विभाग अब सीधे कमिश्नर के नियंत्रण में आने के बाद पांच लाख से अधिक की बुकिंग की कोई 50 फाइलें उनके पास पहुंची लेकिन निगमायुक्त ने मंजूर नहीं किया।

अप्रैल के पहले सप्ताह में ही आ पाएगा निगम का बजट

नगर निगम का बजट अप्रैल के पहले सप्ताह में आने की संभावना है। स्वच्छ सर्वे से मुक्त होकर अब निगम प्रशासन ने बजट पर ध्यान केंद्रित करना शुरू किया है। राजस्व वसूली में काफी पिछड़ जाने के कारण पूरा अमला अब वसूली के काम में लगने वाला है। मार्च के अंतिम सप्ताह में वसूली की वास्तविक स्थिति स्पष्ट होने के बाद ही अगले साल के लिए वास्तविक बजट बन सकेगा।

पुरानी दरों पर नहीं हो रहे काम


X
दो साल से अटके सड़क और नाली निर्माण के 50 करोड़ के काम निरस्त
Astrology

Recommended

Click to listen..