--Advertisement--

जनहित में हट सकती है ड्राइविंग लाइसेंस पर लगने वाली पेनाल्टी

ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल ड्राइविंग लाइसेंस, फिटनेस, परमिट पर परिवहन विभाग द्वारा ली जा रही पेनाल्टी हट सकती...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:30 AM IST
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | भोपाल

ड्राइविंग लाइसेंस, फिटनेस, परमिट पर परिवहन विभाग द्वारा ली जा रही पेनाल्टी हट सकती है। आम लोगों के हित में इस पेनॉल्टी को तत्काल हटाकर उन्हें राहत दी जा सकती है। यह कहना है परिवहन विशेषज्ञ व पूर्व ट्रांसपोर्ट कमिश्नर एनके त्रिपाठी का। वहीं, पेनॉल्टी हटाने को लेकर संयुक्त नगर एवं महानगर बस ऑनर्स सेवा समिति के अध्यक्ष एमएल शर्मा ने पीएस परिवहन को भी ज्ञापन सौंपा है।

परिवहन विभाग ने केंद्रीय भूतल एवं परिवहन विभाग के गजट नोटिफिकेशन के बाद 29 दिसंबर 2016 से ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू करवाने में होने वाली देरी पर एक हजार रुपए साल पेनाल्टी लेना जारी रखा है। साथ ही कमर्शियल वाहनों के परमिट व फिटनेस लैप्स होने पर 50 रुपए प्रतिदिन की पेनाल्टी ली जा रही है। इसका परिवहन मामलों के जानकार लोग लगातार विरोध कर रहे हैं। इसके बाद भी अब तक कुछ नहीं हो पा रहा है, जिसका कारण केंद्रीय मंत्रालय का गजट नोटिफिकेशन है। इधर, ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि राजस्थान के ट्रांसपोर्ट कमिश्नर का आदेश देखने के बाद यहां के बारे में निर्णय लेंगे।

यह जता रहे विरोध: बीकानेर और उसके बाद जोधपुर हाईकोर्ट ने परिवहन विभाग द्वारा ली जा रही पेनाल्टी पर रोक लगा दी है। इसके बाद से राजधानी के ट्रांसपोर्ट व्यवसायी सुरेंद्र तनवानी सहित कुछ लोग विरोध जता चुके हैं। उनका कहना है कि जब राजस्थान में इस पर रोक लग सकती है, तो यहां क्यों नहीं? सबसे अहम बात यह भी है कि बीकानेर व जोधपुर हाईकोर्ट की रोक के बाद राजस्थान के परिवहन आयुक्त शैलेंद्र कुमार अग्रवाल ने 12 जनवरी 2018 को जारी आदेश के तहत तुरंत प्रभाव से स्थगित कर दिया है। इसके बाद भी मप्र परिवहन विभाग उस और ध्यान नहीं दे रहा है।