• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • जेल से मंत्री के बंगले पर ले गए दृष्टिहीनों को, ढाई घंटे चर्चा के बाद आंदोलन खत्म
--Advertisement--

जेल से मंत्री के बंगले पर ले गए दृष्टिहीनों को, ढाई घंटे चर्चा के बाद आंदोलन खत्म

नीलम पार्क में 47 दिन तक धरने पर डटे रहे दृष्टिहीनों को हटाने के मामले में प्रशासन और पुलिस ने कोई कसर बाकी नहीं रखी।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:15 PM IST
जेल से मंत्री के बंगले पर ले गए दृष्टिहीनों को, ढाई घंटे चर्चा के बाद आंदोलन खत्म
नीलम पार्क में 47 दिन तक धरने पर डटे रहे दृष्टिहीनों को हटाने के मामले में प्रशासन और पुलिस ने कोई कसर बाकी नहीं रखी। एक दिन पहले बुरी तरह खदेड़े गए इन आंदोलनकारियों में से नौ को जेल भेजा गया था। इन सभी को पुलिस कस्टडी में सुबह जेल से सीधे पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव के बंगले पर ले जाया गया। वहां मंत्री की इनसे ढाई घंटे बातचीत हुई। चर्चा में मांगों पर सहमति के बाद दृष्टिहीनों को आंदोलन खत्म करने का ऐलान करना पड़ा।

दृष्टिहीन बेरोजगार संघर्ष समिति के बैनर तले प्रदेश भर के नेत्रहीन रोजगार, शिक्षा, हॉस्टल समेत 23 सूत्रीय मांगों को लेकर धरने पर डटे थे। पुलिस ने इन्हें सोमवार को खदेड़ दिया था। सुरेश यादव, हिदायत अंसारी, मनीष सिकरवार, गणेश, ज्ञानी समेत नौ लोगों को जेल भेज दिया गया था। सुबह इन्हें जमानत पर छोड़ा गया। वहां से पुलिसकर्मी इन्हें मंत्री भार्गव के बंगले पर ले गए।

पांच मांगों पर बनी सहमति, 47 दिन से डटे थे धरने पर

कांग्रेस ने फूंके पुतले,

पुलिस से झड़प

दृष्टिहीनों के साथ प्रशासन के व्यवहार से गुस्साए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बुधवार को भोपाल समेत प्रदेश भर में प्रदर्शन किया। पार्षद मोनू सक्सेना एवं गुड्‌डू चौहान के नेतृत्व में सीएम हाउस घेरने निकले कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रंगमहल चौराहे पर ही रोक लिया। पुतला हाथ में लेकर प्रदर्शनकारियों ने मार्च किया। इस दौरान पुलिस से झड़प व झूमा-झटकी हुई। रोटरी क्लब के सामने प्रदर्शनकारी धरने पर बैठ गए। युवा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुणाल चौधरी के नेतृत्व में प्रदेश भर में पुतले जलाए गए।

X
जेल से मंत्री के बंगले पर ले गए दृष्टिहीनों को, ढाई घंटे चर्चा के बाद आंदोलन खत्म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..