• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • 20 कॉलोनियों में सालों से दूषित पानी पीने को मजबूर गैस पीड़ित
--Advertisement--

20 कॉलोनियों में सालों से दूषित पानी पीने को मजबूर गैस पीड़ित

दोपहर के तीन बजे रहे हैं। नालियों के बीच पानी के पाइप लाइन में गंदा पानी जा रहा है। कहीं पाइप टूटे, तो कहीं लाइन से...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:20 PM IST
20 कॉलोनियों में सालों से दूषित पानी पीने को मजबूर गैस पीड़ित
दोपहर के तीन बजे रहे हैं। नालियों के बीच पानी के पाइप लाइन में गंदा पानी जा रहा है। कहीं पाइप टूटे, तो कहीं लाइन से पानी का रिसाव हो रहा है। नालियों का गंदा पानी पीने की पाइप लाइन में मिल रहा है। जगह-जगह कचरे के ढेर के बीच से गुजरती पाइप लाइनें।

यह तस्वीर बुधवार को गैस प्रभावित बस्तियों का निरीक्षण के दौरान सुप्रीम कोर्ट की मॉनिटरिंग कमेटी को नबाव कॉलोनी में देखने को मिली। कमेटी के सदस्य अमजद अली ने गैस प्रभावित बस्तियों के रहवासियों को जल्द ही कॉलोनी में सप्लाई किए जा रहे पानी की जांच कराने का आश्वासन दिया है। कमेटी में मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव बीएस भदौरिया, जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव अमजद अली मौजूद थे। रहवासियों का कहना था कि नगर निगम और अन्य एजेंसियों का पूरा ध्यान सिर्फ यूनियन कार्बाइड के कचरे को हटाने पर ही है। लेकिन,इससे हो रहे भूजल प्रदूषण को लेकर कोई चिंता नहीं है।

रहवासी बोले-पीने के पानी में मिल रहा सीवेज, लोग हो रहे बीमार

कमेटी दोपहर ढ़ाई बजे गैस पीडितों को पीने के लिए शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए किए गए सरकारी इंतजामों की हकीकत जानने नबाव कॉलोनी पहुंची। यहां गैस प्रभावितों ने बताया कि पानी की मुख्य पाइप लाइन कई जगहों पर टूटी है। इससे पीने के पानी में सीवेज मिल रहा है। क्षेत्र में पानी सप्लाई की दूसरी व्यवस्था नहीं होने के कारण गैस पीड़ित मजबूरन दूषित पानी पी रहे हैं। कॉलोनी में पीने के पानी की स्थिति देख समिति के सदस्यों ने भी नगर निगम और पीएचई के सदस्यों से भी इसका कारण पूछा।

नवाब कॉलोनी की नालियों में बिछीं पाइप लाइनों से घरों में पहुंच रहा सीवेज।

राजधानी में 22 कॉलोनियां हैं गैस प्रभावित

गैस पीड़ित संगठन की रचना ढींगरा ने कमेटी को बताया कि उन्होंने गैस पीडि़त कॉलोनियों में पीने के पानी की समस्या को लेकर 1995 में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी। सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने 14 कॉलोनियों में पानी की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे। हालांकि बाद में गैस प्रभावित कॉलोनियों की संख्या 14 से 22 हो गई। उन्होंने कहा कि आज भी 20 कॉलोनियों में भी जहरीला पानी आ रहा है

लखनऊ की लैब में होगी पानी की जांच

निरीक्षण के दौरान कमेटी के सदस्य सचिव अमजद अली ने बताया कि नवाब कॉलोनी में पानी की लाइनें तो बिछीं हैं लेकिन इन्हें नालियों से गुजारा गया है। कई जगह ये पाइप लाइनें टूट गईं तो कई जगह लोगों ने अतिक्रमण कर लिया। इसके चलते घरों में गंदा पानी जा रहा है। जल्द ही इस पानी के सैंपल को लखनऊ आईआईसीआर लैब में टेस्ट कराया जाएगा।

X
20 कॉलोनियों में सालों से दूषित पानी पीने को मजबूर गैस पीड़ित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..