--Advertisement--

भावांतर में कम मिल रहे उपज के भाव पर मजबूरी में बेच रहे किसान

भास्कर संवाददाता | छापीहेड़ा नगर सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्र में किसानों की उपज का भावांतर योजना के तहत पंजीयन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
भास्कर संवाददाता | छापीहेड़ा

नगर सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्र में किसानों की उपज का भावांतर योजना के तहत पंजीयन का कार्य अभी चल रहा है। जबकि फसलों की तुलाई 10 अप्रैल से शुरू होगी। लेकिन किसानों को इस समय विवाह-शादी आदि कार्यों के लिए रुपए की जरूरत है। इस कारण किसानों को अपनी फसल को फुटकर में ओने-पौने दामों पर बेचना पड़ रही है। जिससे उनको काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है।

चना 3400, मसूर 3400, रायड़ा 350 के भाव से मंडी में करीबन 405 क्विंटल की आवक हो रही है। किसानों ने बताया कि भावांतर का हमें कोई लाभ नहीं मिल रहा है। इस समय शादी विवाह का सीजन है।

कम आ रहा माल