• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • डेम से पानी दिए बिना ही 450 हेक्टेयर किसानों की भूमि को बता दिया सिंचित
--Advertisement--

डेम से पानी दिए बिना ही 450 हेक्टेयर किसानों की भूमि को बता दिया सिंचित

वर्ष 2010 में देवरी सर्किल में बनाए गए ऊंचाखेड़ा डेम से किसानों को एक भी बार पानी नहीं मिला। डेम का निर्माण कराने के...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:40 AM IST
वर्ष 2010 में देवरी सर्किल में बनाए गए ऊंचाखेड़ा डेम से किसानों को एक भी बार पानी नहीं मिला। डेम का निर्माण कराने के बाद सरकार ने करीब पांच गांवों के किसानों की जमीन को सिंचित बता दिया। लेकिन 7 साल में ऊंचाखेड़ा डेम की नहरों से किसानों के खेतों तक एक भी बार पानी नहीं पहुंचा है। डेम से पानी न मिलने से परेशान किसानों के सामने अब यह समस्या आ गई है कि उनकी जमीन को सिंचित बता देने के कारण किसानों को मनरेगा योजना के तहत कुआं निर्माण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्योंकि कागजों में इन सभी किसानों के खेतों तक डेम का पानी पहुंच चुका है।

विगत दिनों नहर अध्यक्ष ने कार्यपालन यंत्री, लोनिवि मंत्री और विधायक को ज्ञापन देकर वस्तु स्थिति बताकर किसानों को डेम से पानी उपलब्ध कराने की मांग की है। नहर अध्यक्ष मदनसिंह पटेल ने बताया कि ऊंचाखेड़ा डेम से करीब 5 गांवों के किसानों को पानी उपलब्ध कराया जाना है। जिनमें ऊंचाखेड़ा, बिलगुआ सहजपुरी, डुगरियां, करैया गोगरपुर गांव शामिल हैं। विगत वर्ष काफी प्रयास कर 9 से 13 फीट तक की नालियां खोदने के बाद बमुश्किल एक गांव तक पानी पहुंच पाया था। उन्होंने बताया कि नहर निर्माण के दौरान भारी लापरवाही की गई है। नहरें ऊंची नीची होने के कारण डेम से पानी उतर ही नहीं पा रहा। विगत वर्ष उन्होंने गहरी नालियां खोदकर बमुश्किल पानी डेम से निकाला था। किसानों ने लोनिवि मंत्री से डेम से पानी उपलब्ध कराने व नहर निर्माण में लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।