Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» डेम से पानी दिए बिना ही 450 हेक्टेयर किसानों की भूमि को बता दिया सिंचित

डेम से पानी दिए बिना ही 450 हेक्टेयर किसानों की भूमि को बता दिया सिंचित

वर्ष 2010 में देवरी सर्किल में बनाए गए ऊंचाखेड़ा डेम से किसानों को एक भी बार पानी नहीं मिला। डेम का निर्माण कराने के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 02:40 AM IST

वर्ष 2010 में देवरी सर्किल में बनाए गए ऊंचाखेड़ा डेम से किसानों को एक भी बार पानी नहीं मिला। डेम का निर्माण कराने के बाद सरकार ने करीब पांच गांवों के किसानों की जमीन को सिंचित बता दिया। लेकिन 7 साल में ऊंचाखेड़ा डेम की नहरों से किसानों के खेतों तक एक भी बार पानी नहीं पहुंचा है। डेम से पानी न मिलने से परेशान किसानों के सामने अब यह समस्या आ गई है कि उनकी जमीन को सिंचित बता देने के कारण किसानों को मनरेगा योजना के तहत कुआं निर्माण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्योंकि कागजों में इन सभी किसानों के खेतों तक डेम का पानी पहुंच चुका है।

विगत दिनों नहर अध्यक्ष ने कार्यपालन यंत्री, लोनिवि मंत्री और विधायक को ज्ञापन देकर वस्तु स्थिति बताकर किसानों को डेम से पानी उपलब्ध कराने की मांग की है। नहर अध्यक्ष मदनसिंह पटेल ने बताया कि ऊंचाखेड़ा डेम से करीब 5 गांवों के किसानों को पानी उपलब्ध कराया जाना है। जिनमें ऊंचाखेड़ा, बिलगुआ सहजपुरी, डुगरियां, करैया गोगरपुर गांव शामिल हैं। विगत वर्ष काफी प्रयास कर 9 से 13 फीट तक की नालियां खोदने के बाद बमुश्किल एक गांव तक पानी पहुंच पाया था। उन्होंने बताया कि नहर निर्माण के दौरान भारी लापरवाही की गई है। नहरें ऊंची नीची होने के कारण डेम से पानी उतर ही नहीं पा रहा। विगत वर्ष उन्होंने गहरी नालियां खोदकर बमुश्किल पानी डेम से निकाला था। किसानों ने लोनिवि मंत्री से डेम से पानी उपलब्ध कराने व नहर निर्माण में लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: डेम से पानी दिए बिना ही 450 हेक्टेयर किसानों की भूमि को बता दिया सिंचित
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×