--Advertisement--

हम समाज और विद्यालय के बीच में सेतु का काम करें: सिद्दीकी

राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयीन संस्थान एनआईओएस से अशासकीय विद्यालयों के अध्यापकों द्वारा किया जा रहा डीएलएड...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:50 AM IST
राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयीन संस्थान एनआईओएस से अशासकीय विद्यालयों के अध्यापकों द्वारा किया जा रहा डीएलएड पाठ्यक्रम में अध्ययन केंद्र शासकीय हायर सेकंडरी संकुल केंद्र में चलाई जा रही कक्षाओं का प्रथम वर्ष पाठ्यक्रम समापन किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ.ओम प्रकाश दुबे ने की। अतिथि के रूप में मो. अकबर सिद्दीकी, सूर्यकांत शर्मा, कमलेश खत्री रहे। इस अवसर पर श्री सिद्दीकी ने पाठ्य उपाधी कर रहे छात्र अध्यापकों को बताया की आज समाज में निहित आवश्यकता है कि हम समाज और विद्यालय के बीच में सेतु का काम करें। जो समाज और विद्यालय को जोड़ते हुए विद्यार्थियों में नैतिक तथा व्यवहारिक शिक्षा का ज्ञानार्जन हो इससे विद्यार्थियों के अंदर रचनात्मकता, सृजनात्मकता और कौशल का गुण विकसित हों। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर वर्तमान प्रधानमंत्री तक इस बात को प्रमुख उल्लेखित किया जा रहा है कि विद्यार्थियों में ज्ञान के साथ कौशल विकसित होना अति आवश्यक है। इसी बिंदु को हमने पाठ्य आधारित विषय वस्तु में अधिगम से लेकर उपागम तक ग्रहण किया है। जिससे हम सीखने के साथ साथ दक्षता का निर्माण करें।

इस अवसर पर डॉ. ओम प्रकाश दुबे, सूर्यकांत शर्मा, कमलेश खत्री, डॉ. देवकरण सिंह, नदीम सिद्दीकी आदि ने भी विचार रखे।

कार्यक्रम का संचालन सुरेंद्र शर्मा ने किया। इस अवसर पर प्रिंस पब्लिक स्कूल के संचालक व अध्यापकों की ओर से अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। छात्र अध्यापकों द्वारा भी उपरोक्त कक्षाओं के संबंध तथा पठन-पाठन आदि विषयों पर अपने विचार रखें।