भोपाल

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • शिक्षकों के मोबाइल रखवाए, परीक्षा खत्म होने के आधा घंटे बाद लौटाए
--Advertisement--

शिक्षकों के मोबाइल रखवाए, परीक्षा खत्म होने के आधा घंटे बाद लौटाए

माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने इस बार परीक्षा में सख्ती बरती है। हाईस्कूल परीक्षा के पहले दिन केंद्राध्यक्ष के...

Danik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:40 AM IST
माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने इस बार परीक्षा में सख्ती बरती है। हाईस्कूल परीक्षा के पहले दिन केंद्राध्यक्ष के साथ ही पर्यवेक्षक और अन्य कर्मचारी परीक्षा केंद्र पर मोबाइल लेकर पहुंचे तो उनके मोबाइल डिब्बे में बंद कर सील कर दिए गए। दोबारा शिक्षक इस तरह की गलती न करे, इसके लिए परीक्षा खत्म होने के आधे घंटे बाद मोबाइल वापस किए गए। परीक्षा के पहले दिन ही जीरापुर में एक नकल प्रकरण बना है।

बोर्ड परीक्षा की शुरूआत गुरूवार से हो गई। पहले दिन सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक हायर सेकंडरी के हिंदी विषय की परीक्षा 59 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित हुई। परीक्षा में सख्ती बरतते हुए परीक्षार्थियों के घड़ी, जूते-मोजे सहित अन्य सामग्री निकलवाई गई। वहीं परीक्षक और केंद्राध्यक्ष के मोबाइल को अनुमति नहीं दी गई। जो वीक्षक केंद्र पर मोबाइल लेकर गए है उन्हें पहले दिन ही जब्त कर थैले में बंद कर दिया। अगली परीक्षा में मोबाइल साथ नहीं लाने के लिए भी कहा है।


हायर सेकंडरी के पहले पेपर में एक छात्र नकल करते पकड़ाया, हाई स्कूल की कल से

उत्कृष्ट स्कूल में पहले दिन बोर्ड परीक्षा देते हुए छात्र-छात्राएं।

ऐसी है परीक्षा की स्थिति

61 हाई स्कूल परीक्षा केंद्र

24,332 परीक्षार्थी

59 हायर सेकंडरी परीक्षा केंद्र

16,230 छात्र

20 संवेदनशील

14 अति संवेदनशील

पहले दिन ही जीरापुर के कन्या उमावि में पकड़ाया नकलची

पहले दिन हिंदी के पेपर में एक नकल प्रकरण बनाया है। कंट्रोलर सीपी पिपलोटिया ने बताया कि हिंदी के पेपर में कन्या उमावि जीरापुर में एक परीक्षार्थी हाथ से लिखी पर्ची लेकर आया था। उसे केंद्राध्यक्ष बद्रे आलम ने नकल करते हुए देख लिया। अन्य सभी छात्रों की चैकिंग भी बारीकी से की जा रही है।

3 दिव्यांगों के लिए बनाए 3 केंद्र, एक रहा अनुपस्थित

बोर्ड परीक्षा में पहली बार दिव्यांगों के लिए अलग से परीक्षा हुई है। इसके लिए तीन केंद्र बनाए गए है। जहां एक-एक परीक्षार्थी थे। गुरूवार को पहले दिन इन केंद्रों पर दोपहर 1 बजे से 4 बजे तक परीक्षा आयोजित की गई। इनमें खुजनेर व उदनखेड़ी में परीक्षार्थी पहुंचे, लेकिन खिलचीपुर केंद्र पर दिव्यांग छात्र परीक्षा देने नहीं पहुंचा।

नकल रोकने के लिए अब इस तरह से होगी सख्ती







अति संवेदनशील केंद्रों पर लगाए अतिरिक्त ऑब्जर्वर

परीक्षा में पहले दिन 14 हजार 464 परीक्षार्थी शामिल होने थे, जिसमें से 14 हजार 051 परीक्षार्थी शामिल हुए। वहीं 413 छात्र अनुपस्थित रहे है। इसके लिए 14 अतिसंवेदनशील केंद्र भी शामिल थे, जहां एक-एक आब्जर्वर की अलग से व्यवस्था की गई, वहीं उड़नदस्ता की निगरानी के साथ ही पुलिस बल भी अतिरिक्त तैनात किया गया। ताकि कोई अप्रिय घटना न हो।

Click to listen..