• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • पहले माता पिता के नाम से बच्चों को जानते थे, अब होनहार बच्चों के नाम से पहचाने जा रहे माता पिता
--Advertisement--

पहले माता-पिता के नाम से बच्चों को जानते थे, अब होनहार बच्चों के नाम से पहचाने जा रहे माता-पिता

News - भास्कर संवाददाता | खिलचीपुर पहले माता-पिता के नाम से बच्चों को जाना जाता था, लेकिन आज देश के ग्रामीण अंचलों के...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:55 AM IST
पहले माता-पिता के नाम से बच्चों को जानते थे, अब होनहार बच्चों के नाम से पहचाने जा रहे माता-पिता
भास्कर संवाददाता | खिलचीपुर

पहले माता-पिता के नाम से बच्चों को जाना जाता था, लेकिन आज देश के ग्रामीण अंचलों के होनहार बालक-बालिकाओं के नाम से माता-पिता की पहचान होती है। यह देश के लिए बड़ी उपलब्धि है। यह बात दिल्ली से आए नीति आयोग के अध्यक्ष आरके चतुर्वेदी ने कस्तूरबा गांधी छात्रावास में आयोजित मां-बेटी मेले में मौजूद छात्राओं और उनके माता-पिताओं सहित गणमान्य लोगों के बीच कही।

जिला शिक्षा विभाग के तत्वावधान में नगर के कस्तूरबा गांधी छात्रावास में आयोजित मां बेटी मेला कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में नीति आयोग के अध्यक्ष श्री चतुर्वेदी व जिला कलेक्टर कर्मवीर शर्मा रहे। इस दौरान श्री चतुर्वेदी सहित कलेक्टर श्री शर्मा ने कस्तूरबा गांधी छात्रावास की छात्राओं की खूब तारीफ की। कार्यक्रम में छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर अतिथियों सहित मौजूद लोगों कर प्रशंसा बटोरी। छात्राओं की झांसी की रानी लक्ष्मी बाई के गीत खूब लड़ी मर्दानी वो तो झांसी वाली रानी थी की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की। छात्रावास की होनहार बालिकाओं ने मंच से कार्यक्रम में शामिल हुए अतिथियों व परिजनों के बीच अपने विचार व्यक्त किए।

कलेक्टर ने मालवी भाषा में दिया संबोधन

कार्यक्रम में मौजूद परिजनों को कलेक्टर श्री शर्मा ने मालवी भाषा में संबोधित किया। शिक्षा के क्षेत्र में बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए व जिले का नाम रोशन करने के लिए जोर दिया। कार्यक्रम स्थल पर छात्राओं द्वारा छात्रावास में बनाई गईं पेंटिंग, सिलाई, कढ़ाई सहित कई प्रकार की सामग्रियों की प्रदर्शनी लगाई गईं। कार्यक्रम में जिला शिक्षा विभाग के जिला अधिकारी केके नागर, एसडीएम प्रवीण प्रजापति, जनपद सीईओ अनिल द्विवेदी, बीईओ आनंदीलाल नामदेव, बीआरसी विजयवर्गीय सहित स्कूली शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

कुप्रथाओं पर आयोजित मेले में दिखा क्षेत्र का पिछड़ापन

एक ओर शिक्षा विभाग द्वारा क्षेत्र से कुरीतियों व कुप्रथाओं को खत्म कर बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया।

वहीं दूसरी ओर कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने ग्रामीण अंचलों से आई बालिकाओं की माताओं ने मंच से घूघट की आड़ में अपने विचार व्यक्त किए। इससे साफ जाहिर होता है कि आज भी ग्रामीण इलाकों में जागरूकता की कमी है।

कुरीतियों को रोकने आयोजित कार्यक्रम में ही घूंघट की आड़ में महिलाओं ने रखे अपने विचार

कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों के साथ महिलाएं एवं बेटियां।

बेटियां डरें नहीं, समस्या का सामना करें : उमेश यादव

करनवास। पुलिस प्रशासन के निर्देश पर थाना क्षेत्र के भिलवाड़िया गांव में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, महिला सम्मान, सुरक्षा, स्वरक्षा संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान मौजूद महिलाएं एवं स्कूली छात्राओं को कानूनी जानकारियां दी गईं। साथ ही बेटी को जागरूक रहने के लिए फिल्म भी दिखाई गई। वहीं इस दौरान बाल विवाह, आम रास्तों पर आसामाजिक तत्वों द्वारा छेड़छाड़, पारिवारिक विवाद, ससुराल पक्ष का विवाद, झगड़ा, नाथरा, दहेज आदि पर रोक लगाने के लिए प्रेरित किया गया। इस मौके पर थाना प्रभारी उमेश यादव ने कहा कि बेटियां डरें नहीं, बल्कि समस्या का सामना करें। ताकी दूसरी बार कोई भी व्यक्ति गलत कदम उठाने के लिए न सोच सके। इस मौके पर बीट प्रभारी शिवसिंह यादव सहित सरपंच डालीबाई चन्दर सिंह यादव, प्राचार्य आरएन लहरी, आशा कार्यकर्ता सहित ग्रामीण महिलाएं बेटियां मौजूद रहीं।

X
पहले माता-पिता के नाम से बच्चों को जानते थे, अब होनहार बच्चों के नाम से पहचाने जा रहे माता-पिता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..