--Advertisement--

भास्कर संवाददाता| राजगढ़

भास्कर संवाददाता| राजगढ़ ई-पेमेंट के नाम से ठगी करने का ठगों ने नया तरीका निकाला है। इसका एक नमूना गुरुवार को...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:55 AM IST
भास्कर संवाददाता| राजगढ़

ई-पेमेंट के नाम से ठगी करने का ठगों ने नया तरीका निकाला है। इसका एक नमूना गुरुवार को सामने आया। ठगों ने जिला अस्पताल के पूर्व प्रभारी सिविल सर्जन डॉ वीके झा के नाम से विनय झा की फेक फेसबुक आईडी बनाई गई। इसके बाद सभी परिचितों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर पेटीएम में रुपए डलवाने की मांग की। इनमें से कुछ लोगों ने पेटीएम में राशि डाल भी दी। जब इसकी सूचना डॉ झा को लगी तो उन्होंने फेसबुक पर रिक्वेस्ट आने पर किसी को भुगतान नहीं करने की बात कहीं है। वहीं इस ठगी की शिकार स्टाफ नर्स उमा शर्मा ने खिलचीपुर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज कराई है।

डॉ झा के नाम से फेसबुक आईडी बनाकर पहले अधिकारियों को दोस्ती करने पहले रिक्वेस्ट भेजी गई। इसके बाद मदद चाहिए की बात कहते हुए सभी को 3-3 हजार रुपए उनके पेटीएम एकाउंट में जमा करने के लिए कहा। इस पर खिलचीपुर के बंटी शर्मा ने प|ी उमा के खाते से 3 हजार रुपए का पेटीएम कर भी दिया। उमा खिलचीपुर अस्पताल में स्टाफ नर्स के पद पर कार्यरत है। इसके बाद डॉक्टर झा की फर्जी आईडी बनाने वाले ने 10 हजार रुपए की मांग करते हुए देर शाम को आकर देने की बात कहीं। इस पर बंटी शर्मा ने 10 हजार रुपए ट्रांसफर कराने डॉ झा से खाता नंबर मांगा तो बंटी की प|ी का ही निकला। इसके बाद श्री शर्मा ने इसकी सूचना खिलचीपुर थाने में दी है।माना जा रहा है कि आरोपी ने उमा शर्मा का एसबीआई एकाउंट भी हैक कर लिया है।