--Advertisement--

हीरे को तराशकर मूल्यवान बनाते हैं शिक्षक: चौहान

हमारे क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। उन्हें पहचान कर उचित मूल्यांकन करके तराशने का काम नगर के गुरुजन...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:45 PM IST
हीरे को तराशकर मूल्यवान बनाते हैं शिक्षक: चौहान
हमारे क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। उन्हें पहचान कर उचित मूल्यांकन करके तराशने का काम नगर के गुरुजन जिम्मेदारी के साथ निभा रहे हैं। इनके तराशे हुए छात्र एवं खिलाड़ी राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर मंडीदीप का नाम रोशन कर रहे हैं। मैं आशा करता हूं कि इनके द्वारा नगर का गौरव बढ़ाने का यह काम निरंतर जारी रहेगा। ऐसे गुरुजनों का सम्मान करने का ईश्वर ने मुझे अवसर दिया है। इसके लिए मैं अपने आपको सौभाग्यशाली मानता हूं। जैसे पारखी जौहरी हीरे को तराशकर मूल्यवान बनाते हैं, वैसा ही काम विद्यार्थी के जीवन में गुरु करता है। यह बात नपाध्यक्ष बद्री सिंह चौहान ने शिक्षकों एवं खेल प्रशिक्षकों को सम्मानित करते हुए कही। बुधवार को नपा के सामुदायिक भवन में आयोजित एक सादे समारोह में नपाध्यक्ष श्री चौहान ने नपा द्वारा आयोजित की गई अंतरशालेय खेल कूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता के समापन अवसर पर स्कूल संचालकों, प्रबुद्धजनों एवं खेल प्रशिक्षकों को शाल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि किसी स्टूडेंट के जीवन को गढ़ने में सबसे बड़ा योगदान गुरु का ही होता है। बदलते वक्त में सब कुछ बदला, मगर नहीं बदली है तो गुरु की भूमिका। गुरु कड़ी मेहनत से कच्ची मिट्टी के लोंदों को तराशकर एक अच्छा इंसान बनाते हैं। आप अपनी जिम्मेदारी को इसी तरह निभाते रहें। नपा आपको इसी तरह आगे बढ़ने का मंच मुहैया कराती रहेगी।

X
हीरे को तराशकर मूल्यवान बनाते हैं शिक्षक: चौहान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..