भोपाल

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • होली पर सामूहिक पंचायत में ग्रामीणों ने लिए श्मशान को मुक्तिधाम में बदलने व धर्मशाला बनाने के निर्णय
--Advertisement--

होली पर सामूहिक पंचायत में ग्रामीणों ने लिए श्मशान को मुक्तिधाम में बदलने व धर्मशाला बनाने के निर्णय

भास्कर टीम | संडावता /सारंगपुर/छापीहेड़ा पूर्णिमा की रात होलिका दहन के बाद शुक्रवार को जिलेभर में धुलेंडी पर्व...

Danik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:35 AM IST
भास्कर टीम | संडावता /सारंगपुर/छापीहेड़ा

पूर्णिमा की रात होलिका दहन के बाद शुक्रवार को जिलेभर में धुलेंडी पर्व उल्लास के साथ मनाया गया। इस मौके पर होलिका पूजन, हुरियारों के जुलूस और सामूहिक गेर निकाली गईं। इस दौरान पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था संभाली।

ग्रामीणों ने सामूहिक पंचायत में लिए नगर विकास के निर्णय : संडावता | होली के मौके पर कस्बे में गांव में गेर निकाली गई। इसके बाद श्री सांवरिया सेठ मंदिर परिसर में सामूहिक पंचायत आयोजित की गई। इसमें कई निर्णय लिए गए। वहीं कई सामाजिक व्यक्तिगत विवाद निबटाए गए। साथ ही समस्याओं पर गांव के विकास पर चर्चा कर सर्वसम्मति से निर्णय लिए गए। इस मौके पर लिया गया कि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी शव यात्रा पर फेंके जाने वाले रुपए फेंकते की जगह गांव के मेहतर को दिए जाएंगे। वहीं शव यात्रा के दौरान आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया गया। क्योंकि पटाखे खुशी के प्रतीक हैं, न कि गमी का। पंचायत में गांव के श्मशान का भी विकास कर उसे एक मुक्तिधाम बनाया बनाने का निर्णय लिया गया। साथ ही श्री सांवरिया सेठ मंदिर के सामने ग्रामीणों और शासन के सहयोग से एक धर्मशाला का निर्माण करने की बात कही। अवसर बड़ी संख्या में गणमान्य लोगों ने भाग लिया। वहीं होली उत्सव धूमधाम से मनाया गया।

फूलमाली समाज ने निकाली रंगारंग सामूहिक गैर, 60 जगह हुआ होलिका दहन : सारंगपुर। शुक्रवार को धुलेंडी पर्व मनाया गया। नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों मे बड़े उत्साह व धूमधाम से मनाया गया। नगर में विभिन्न मोहल्लों में पांच दर्जन से अधिक स्थानों पर होलिका दहन हुआ। सुबह हुरियारों की टोलियां रंग गुलाल उड़ाते मौजमस्ती करते रहे। वहीं फूलमाली समाज ने सभी मोहल्लों ढोल-धमाकों के साथ गैर निकाली। इस दौरान गमी वाले घर पर रंग-गुलाल करते हुए मोहल्ला खारिया में एकत्रित हुए। जहां बरसाने की होली की तर्ज पर फूलों की होली खेली गई। सामूहिक गैर का चल समारोह विभिन्न मार्गों से होता हुअा भेरूदरवाजा होली स्थल पहुंचा। जहां बिनोरी खेलकर प्रसादी वितरण किया। इस मौके पर समाज अध्यक्ष ओम पुष्पद, हिउस अध्यक्ष डाॅ. राजेन्द्र मिश्रा, ललित पालीवाल, प्रेमनारायण पुष्पद, शिवनारायण पुष्पद, अशोक पुष्पद, हीरालाल पुष्पद, दौलतराम पुष्पद, रामचरण पुष्पद आदि मौजूद रहे।

संगीतमय सुंदरकांड पाठ के साथ शुरू हुआ 6 दिवसीय होली उत्सव : सारंगपुर | सार्वजनिक हिन्दू उत्सव समिति के तत्वावधान में छह दिवसीय होली उत्सव गुरुवार रात पूर्णिमा पर पुराना बस स्टैंड स्थित बालरूप हनुमान मंदिर में संगीतमय सुंदरकांड पाठ से प्रारंभ हुआ। बालरूप सुंदरकांड मंडल के कलाकार पं. आनंद जोशी, दिलीप विश्वकर्मा, अंकुर सोनी, परमानंद जोशी, चंदन चौहान, डॉ . मुकेश गोस्वामी आदि कलाकारों ने भजनों के साथ सुंदरकांड की चौपाइयों का संगीतमय पाठ किया। इस मौके प हिंदू उत्सव समिति अध्यक्ष डां. राजेन्द्र मिश्रा, ललित पालीवाल, तहसीलदार विजय सेन, सुमत जैन, सिद्देश्वर शर्मा, हरिनारायण पुष्पद आदि मौजूद रहे।

ब्रह्माकुमारी आश्रम में मनाई आध्यात्मिक होली : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में आध्यात्मिक होली उत्सव मनाया गया। प्रेम कुमार जैन, ओपी दुबे ने कार्यक्रम की शुरूआत की। ब्रह्माकुमारी भाग्यलक्ष्मी दीदी ने होली पर्व का आध्यात्मिक रहस्य बताते हुए कहा कि जिस प्रकार हम होलिका दहन करते हैं, वास्तव में वह हमारे स्वयं के विकारों को परमात्मा की याद की अग्नि में दहन करने का प्रतीकात्मक है। इसी के साथ गुलाल व फूलों से होली खेल कर प्रसादी वितरण किया गया।

पानी की समस्या होने से ग्रामीणों ने खेली सूखी होली : सुल्तानिया | कस्बे में कंडे ही होली जलाई गई। इसके पूर्व महिलाओं ने होलिका की पूजन की। इसके बाद मध्यरात्रि को होलिका दहन हुआ। क्षेत्र में पानी की समस्या को देखते हुए लोगों ने सूखी होली खेली। रीति-रिवाज के अनुसार सामूहिक गैर निकाली गई। इसमें ग्राम प्रधान सहित ग्रामीण शामिल हुए।

सडावत में सामूहिक पंचायत का आयोजन कर लिए कई फैसले, सारंगपुर में बरसाने की होली की तर्ज पर फूलों की होली खेली गई

करनवास में सामूहिक गेर निकालते ग्रामीण।

फूलमाली समाज द्वारा निकाली गई गेर में शामिल नागरिक।

पूजा-अर्चना के बाद हुआ होलिका दहन

छापीहेड़ा | नगर में जैन मंदिर, नप कार्यालय के पास, नलखेड़ा रोड आदि स्थानों पर होली जलाई गई। जहां पूर्व संध्या महिलाओं ने पूजा-अर्चना की। सुबह महिलाओं ने होली को ठंडा कर पूजा की। इसके बाद धुलेंडी उत्सव प्रारंभ हुआ। इस दौरान नगर में कई लोगों के घर गमी होने से लोगों के घर जाकर रंग डाला। लेकिन रंग पंचमी धूमधाम से मनाई जाएगी।

रंगों का पर्व मनाया

ब्यावरा कला | कस्बे में लोगों ने रंगों के अपेक्षा अबीर, गुलाल से होली मनाई। युवाओं में होली को लेकर खासा उत्साह रहा। एक-दूसरे को गले लगा कर होली की शुभकामनाएं दीं। शाम को राधा कृष्ण मंदिर पर होली मिलन समारोह रखा गया। इसमें सैकड़ों ग्रामीणों ने उपस्थित होकर भजन संध्या की। इसके बाद पूजा आरती और महाप्रसादी वितरण हुआ।

हर्षोल्लास से मना होली पर्व, गेर निकाली

करनवास | होली पर गांव में सामूहिक गैर निकाली गई। जो राममंदिर से शुरू होकर मुख्य मार्गो से होती हुई जाटव मोहल्ला, हनुमान मंदिर, नवीन राम मंदिर, यादव मोहल्ला कालोनी होते हुए बस स्टैंड पहुंची। इसमें बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने शामिल होकर पर्व का आनंद लिया।

Click to listen..