• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • आईटीआई में छह साल में भी पूरे नहीं हुए काम, सड़क अधूरी छोड़कर भागा ठेकेदार
--Advertisement--

आईटीआई में छह साल में भी पूरे नहीं हुए काम, सड़क अधूरी छोड़कर भागा ठेकेदार

News - 2009 से आईटीआई में चले रहे निर्माण कार्य आज तक पूरी नहीं हो सके हैं। जबकि ठेकेदार को दो साल में सभी काम पूरे करना था। 2011...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 05:30 AM IST
आईटीआई में छह साल में भी पूरे नहीं हुए काम, सड़क अधूरी छोड़कर भागा ठेकेदार
2009 से आईटीआई में चले रहे निर्माण कार्य आज तक पूरी नहीं हो सके हैं। जबकि ठेकेदार को दो साल में सभी काम पूरे करना था। 2011 तक भवन निर्माण पूर्ण होने के बाद ठेकेदार अन्य कामों में लेटलतीफी कर रहा है। छह साल पहले अधूरे छोड़े गए सड़क, नाली, बाउंड्रीवाल व गेट का निर्माण कार्य आज तक पूरा नहीं हो पाया। करीब एक महीने पहले ठेकेदार ने सड़क निर्माण का काम शुरू किया था। लेकिन सड़क का बेस डालने के बाद ठेकेदार गायब हो गया। न तो सड़क के बेस की तराई की गई और नहीं नाली निर्माण का काम किया गया। पूर्व में जो बाउंड्रीवाल बनाई गई थी। वह क्षतिग्रस्त होने लगी है। वहीं पार्किग स्थल का निर्माण न होने के कारण छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बाउंड्री व गेट का निर्माण भी अधूरा होने के कारण परिसर में मवेशी घुस जाते हैं। अधूरे नाली निर्माण में कई मवेशी गिरकर घायल हो चुके हैं।

4 करोड़ 80 का था काम: करीब 4 करोड़ 80 लाख से हाउसिंग बोर्ड भोपाल ने 2009 में आईटीआई भवन का निर्माण कार्य शुरू कराया था। जिसका ठेका एससिंग कंपनी को दिया गया था। ठेकेदार को भवन सहित नाली, बाउंड्रीवाल, सड़क, पार्किंग स्टेंड व गेट का निर्माण करना था। लेकिन करीब छह साल में भी कंपनी ने यह काम नहीं किए।

सड़क अधूरे छोड़कर ठेकेदार गायब: ठेकेदार ने कुछ मीटर बाउंड्रीवाल बनाकर छोड़ दी थी। जो अब क्षतिग्रस्त होने लगी है। वहीं करीब एक माह पहले कंपनी ने 300 मीटर रोड का काम शुरू किया। ठेकेदार ने सड़क निर्माण के लिए बेस डाला और गायब हो गया। आईटीआई प्रबंधक ने बताया कि जैसे तैसे काम शुरू हुआ था, लेकिन ठेकेदार भाग गया।

रोसरारानी गांव में 12 लाख से सामुदायिक भवन बनेगा

सिलवानी|
तहसील के रोसरारानी गांव में मंगलवार रात श्रीराम जानकी मंदिर में गांव के लोगों द्वारा सामूहिक रुप से श्रीसीताराम संकीर्तन का आयोजन किया गया। आयोजित काय्रक्रम में पहुंचे लोनिवि मंत्री रामपाल सिंह राजपूत के निज सचिव भोलेशंकर पाराशर ने मंत्री श्री राजपूत के निर्देश पर गांव में 12 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य कराए जाने की घोषणा की।

आईटीआई के सामने सड़क अधूरी छोड़कर भागा ठेकेदार।

25 लाख के काम अभी भी शेष

वर्तमान में आईटीआई भवन में करीब 25 लाख रुपए के काम शेष हैं। जिनमें 300 मीटर सड़क, 1100 मीटर नाली निर्माण, आईटीआई का मुख्य गेट, पार्किंग स्टेंड व बाउंड्रीवॉल शामिल है। आईटीआई अधीक्षक आरएन सक्सेना ने बताया कि गेट न होने से परिसर में लगे पौधों को जानवर खा जाते हैं। वहीं बारिश होने के दौरान परिसर में चारों ओर पानी भर जाता है। खुदी पड़ी नालियों में जानवर गिर जाते हैं।। वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।

X
आईटीआई में छह साल में भी पूरे नहीं हुए काम, सड़क अधूरी छोड़कर भागा ठेकेदार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..