• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Bhopal
  • News
  • एक साल में भी पूरी नहीं हो पाई कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को मर्ज करने की प्रक्रिया
--Advertisement--

एक साल में भी पूरी नहीं हो पाई कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को मर्ज करने की प्रक्रिया

News - ब्लाक के अंतर्गत कुल 218 प्राथमिक शालाएं हैं। इन प्राथमिक शालाओं में कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां छात्रों की संख्या बहुत...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:55 AM IST
एक साल में भी पूरी नहीं हो पाई कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को मर्ज करने की प्रक्रिया
ब्लाक के अंतर्गत कुल 218 प्राथमिक शालाएं हैं। इन प्राथमिक शालाओं में कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां छात्रों की संख्या बहुत कम है। और कुछ विद्यालयों में तो मात्र एक और दो शिक्षक पदस्थ हैं। यूजीएस शाला में तो स्थिति और भी बद से बदतर है। जहां यूजीएस सिमरन टोला में 2 छात्र अध्ययन कर रहे हैं। वहीं उन पर एक शिक्षक पदस्थ है।

इसी प्रकार अंडिया में 3 छात्रों पर एक शिक्षक है। यूजीएस मोधेगांव और भोपतपुर में कुल मिलाकर 5 छात्र हैं। ऐसी स्थिति में अधिकांश स्कूलों में शिक्षकों की संख्या छात्रों के मान से अधिक है। ब्लॉक के अंतर्गत 13 स्कूल ऐसे हैं जहां छात्रों की संख्या 10 से कम है। इसी प्रकार 38 प्राथमिक स्कूल ऐसे हैं जहां 20 से कम छात्र है।

उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा 15 से कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को मर्ज करने की प्रक्रिया शुरु की गई थी, लेकिन वह प्रक्रिया आज तक पूर्ण नहीं हो सकी है। इस कारण कुछ स्कूलों में शिक्षकों की संख्या छात्र अनुपात में अधिक है।

मर्ज करते हैं तो नहीं रखने पढ़ेंगे अतिथि शिक्षक : उल्लेखनीय है कि ऐसी कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को यदि आसपास वाले स्कूलों में मर्ज कर दिया जाता है तो इन इस स्कूलों से जो शिक्षक निकलेंगे वह शिक्षक अन्य विद्यालयों में पदस्थ कर दिए जाएंगे। जिससे अतिथि शिक्षकों की आवश्यकता नहीं होगी।


X
एक साल में भी पूरी नहीं हो पाई कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को मर्ज करने की प्रक्रिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..