--Advertisement--

करदाता से सख्ती, वेतनभोगियों को छूट देकर बरती नरमी

गुरुवार को केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किए बजट पर लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया रही। इस बजट में...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 04:15 AM IST
करदाता से सख्ती, वेतनभोगियों को छूट देकर बरती नरमी
गुरुवार को केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किए बजट पर लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया रही। इस बजट में जहां एक ओर रियायतों को खत्म कर करदाताओं के साथ सख्ती बरती गई है वहीं दूसरी ओर वेतनभोगियों को 40 हजार तक की डिडक्शन छूट देकर कुछ नरमी भी बरती गई है।

इसके अलावा समाज के मध्यम वर्ग और व्यापारी वर्ग को बजट में कोई राहत नहीं मिलने से निराशा भी हुई है। इस बजट को किसान हितैषी बताया जा रहा है। विदिशा वस्त्र व्यापार संघ के अध्यक्ष अतुल जैन का कहना है कि व्यापारियों को कोई राहत बजट में नहीं दी गई है।

पर्यावरण मित्र नीरज चौरसिया का कहना था कि कोई कर राहत नहीं मिलने से काफी निराशा हुई है। आयकर सलाहकार विमलप्रकाश तारण ने कहाकि यह किसान हितैषी बजट है। वेतनभोगियों को राहत से फायदा होगा। वहीं राजेश “प्रीत” जिला संयोजक भारतीय उद्योग व्यापार मंडल ने बताया कि हेल्थ इंश्योरेंस एक अच्छा प्रयोग है। छोटा खुदरा व्यापारी बेहद परेशान है।

केंद्रीय बजट पर आम लोगों की रही मिलीजुली प्रतिक्रिया, मध्यम वर्ग और व्यापारियों को हुई निराशा

उद्योगपतियों पर दिया पूरा ध्यान


करदाता के साथ बरती गई सख्ती


मेडीक्लेम छूट से मिलेगी राहत


X
करदाता से सख्ती, वेतनभोगियों को छूट देकर बरती नरमी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..