--Advertisement--

सीएम की सभा में आए किसान की मौत, कमलनाथ ने ट्वीट कर कही ये बात

चौरई में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सभा में आए एक किसान भूरालाल रघुवंशी (65) की गुरुवार को संदेहास्पद मौत हो गई।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 07:03 AM IST

छिंदवाड़ा/चौरई. चौरई में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सभा में आए एक किसान भूरालाल रघुवंशी (65) की गुरुवार को संदेहास्पद मौत हो गई। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया। ‘आप’ और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पहले प्रदर्शन फिर चक्काजाम कर दिया। इस दौरान प्रशासन के अफसर प्रदर्शनकारियों को समझाते रहे। लेकिन किसान के परिजनों को मुआवजे की मांग पर वे अड़े रहे।

इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं स्थानीय सांसद कमलनाथ की ओर से दस हजार रुपए की सहायता की घोषणा के बाद राजनीतिक माहौल गरमा गया। बाद में मृतक किसान के परिजनों को मुआवजे के रूप में मुख्यमंत्री ने 2 लाख रुपए देने की घोषणा की। इसके साथ ही प्रशासन ने 25 हजार और विधायक रमेश दुबे ने तुरंत ही 10 हजार की सहायता दी। विकास यात्रा लेकर चौरई आए मुख्यमंत्री को आप कार्यकर्ताओं एवं किसानों ने काले झंडे भी दिखाए।
सीएम की सभा में चांद थाना क्षेत्र के सिरसा से आए किसान भूरालाल रघुवंशी का शव नगर के बायपास पर खड़े वाहन में मिला। इसके बाद माहौल गरमा गया। आप कार्यकर्ताओं ने किसान के शव को थाने लाकर प्रदर्शन शुरु कर दिया, लेकिन पुलिस ने हस्तक्षेप करते हुए मृतक किसान के शव को अस्पताल पहुंचाया। थोड़ी देर बाद में कांग्रेसी भी नारेबाजी करने लगे और परिजनों को 50 लाख रु. देने की मांग की। एसडीएम राजेश शाही, तहसीलदार सुधीर जैन ने कहा कि मृत किसान के शव का परीक्षण भी कराया जाएगा। जांच के आदेश का आश्वासन मिलने के बाद आंदोलन खत्म हुआ।

चौरई में भी किसानों का प्रदर्शन
चौरई में मुख्यमंत्री की यात्रा के मद्देनजर कुछ किसानों ने जीप में मक्के के भुट्टे लगाकर प्रदर्शन किया। इन किसानों ने मांग की कि मक्का की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाए। प्रदर्शनकारी किसानों ने एक ज्ञापन भी स्थानीय प्रशासन को सौंपा। वहीं इस घटना की सूचना मिलने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं छिंदवाड़ा के सांसद कमलनाथ ने ट्वीट कर सवाल खड़ा किया कि ये कैसी विकास यात्रा है। एजेंसी के अनुसार उन्होंने किसान के आश्रितों को दस हजार रुपए की सहायता देने की घोषणा की। उन्होंने किसान की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि वह आगामी दौरे के समय किसान के परिजनों से मुलाकात करेंगे।