--Advertisement--

बंद कमरे में लड़की के साथ हुआ गैंगरेप, TI ने वायरल की नाबालिग की फोटो

टीआई ने अपहरण का केस दर्ज करने की बजाय लड़की का फोटो और पता सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 05:43 AM IST

सागर. गढ़ाकोटा में 9वीं कक्षा की छात्रा से सामूहिक ज्यादती मामले में पुलिस की बड़ी चूक सामने आई है। दरअसल, 12 नवंबर को युवती के गायब होने पर परिजन पहले उसे दो दिन तक रिश्तेदारी में तलाशते रहे। 14 नवंबर को वे रिपोर्ट लिखाने पुलिस के पास पहुंचे। यहां गढ़ाकोटा टीआई आरएन तिवारी ने अपहरण का केस दर्ज करने की बजाय लड़की का फोटो और पता सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

गुरुवार को मामले का खुलासा हुआ तो पता चला कि लड़की से सामूहिक ज्यादती हुई है। लड़की ने पुलिस को बताया कि 12 नवंबर को स्काई खान नाम के युवक ने फोन कर कहा कि तुम्हारी एक सहेली ने नोटबुक दी है, आकर ले जाओ।

स्काई उसे कार में बैठाकर गढ़ाकोट से कुछ दूर ले गया। यहां से उसे रवि यादव नाम का युवक सागर लेकर आ गया। रवि ने उसे स्काई खान की महिला मित्र लक्ष्मी लोधी के मकरोनिया स्थित रूम पर ले जाकर छोड़ दिया। इसके बाद स्काई और साथी ताहिर खान, गुड्डु राय, रवि यादव ने अगले दो दिन तक उसके साथ ज्यादती की।


किशोरी का कहना है कि इससे पहले 29 नवंबर को भी उसके साथ दुष्कर्म हुआ था। ताहिर ने फोन पर खबर दी कि छोटे भाई का एक्सीडेंट हो गया है। मैं उसे देखने घर से निकली तो ताहिर सूने मकान में ले गया। यहां ताहिर और गुड्‌डू राय ने रेप किया। इसके बाद उन दोनों ने धमकाया कि अगर यह बात किसी को बताई तो छोटे भाई को जान से मार देंगे।


मैसेज देखकर एक आरोपी पहुंचा परिजन के पास
सोशल मीडिया पर मैसेज देख एक आरोपी रवि यादव 15 नवंबर को पीड़िता के मौसा-मौसी के पास पहुंचा। उसने बताया कि आपकी बेटी को वही दो दिन पहले मकरोनिया छोड़कर आया था। परिजन बेटी और रवि को लेकर पुलिस के पास पहुंचे। लड़की ने बताया कि 12 से 14 नवंबर की रात तक तीनों आरोपियों ने ज्यादती की। किशोरी के मां-बाप की मौत हो चुकी है। वह मौसा-मौसी के साथ रहती है। इधर पुलिस ने आरोपियों में से स्काई खान, रवि यादव, गुड्‌डू राय और लक्ष्मी को ज्यादती मामले में गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी ताहिर खान फरार है।

टीआई पर विभागीय कार्रवाई होगी
टीआई ने तकनीकी रूप से बड़ी चूक की है। उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।'- सत्येंद्र कुमार शुक्ल, एसपी, सागर


मदद की आस में जारी किया था फोटो
मदद मिलने की उम्मीद में फोटो और मैसेज वायरल किया था। मुझे गलती का अहसास है। दोबारा ऐसा नहीं करूंगा।' आरएन तिवारी, टीआई, गढ़ाकोटा थाना, सागर