Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News »Kolar News» Street Lights In Danikunj Are Poor For Months

पांच सेक्टर के अधिकांश क्षेत्र रहते हैं अंधेरे में, रात में लोग नहीं निकल पाते घरों से

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 08:27 AM IST

कोलार की सबसे बड़ी कॉलोनियों में शुमार दानिशकुंज क्षेत्र अक्सर अंधेरे में डूबा रहता है
  • पांच सेक्टर के अधिकांश क्षेत्र रहते हैं अंधेरे में, रात में लोग नहीं निकल पाते घरों से
    कोलार रिपोर्टर।कोलार की सबसे बड़ी कॉलोनियों में शुमार दानिशकुंज क्षेत्र अक्सर अंधेरे में डूबा रहता है। दरअसल यहां लगी स्ट्रीट लाइटों को खराब होने के बाद बदला नहीं जाता। इसके चलते कॉलोनी के छह हजार से अधिक रहवासी परेशान हैं।
    - डीके 4 निवासी शैलेंद्र सिंह लोधी ने बताया कि कई बार शिकायत कर चुके हैं, खराब लाइटों को बदलने के लिए, लेकिन अफसर और नेताओं के कानों में जूं तक नहीं रेंगती है। शिकायत करने पर आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ लिया जाता है। चूंकि इस क्षेत्र में बढ़ी-बढ़ी झड़िया लगी हुई हैं, जिनकी वजह से अंधेरे में सड़क पर चलना खतरनाक हो सकता है।
    - वार्ड 82 के पार्षद भूपेंद्र माली की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई होती है। मुझे जब भी शिकायत मिली, उसे मैंने तुरंत सुलझाया है।
    जहरीले जीव-जंतुओं का रहता है डर
    इस क्षेत्र में सबसे अधिक डर लोगों में जहरीले जीव-जंतुओं से है। दरअसल यहां लगी बड़ी-बड़ी झाड़ियों में सांप-बिच्छू व अन्य जहरीले जीव रहते हैं। अंधेरे में बिना टॉर्च के सड़क पर पैदल चलना मुश्किल है।
    पांच सेक्टर हैं दानिशकुंज में
    राजहर्ष के बाद दानिशकुंज इलाका सबसे बड़ा क्षेत्र है। दानिशकुंज को पांच सेक्टरों में विभाजित किया गया है। डीके 1, डीके 2, डीके 3, डीके 4, डीके 5। इन सेक्टर करीब छह हजार नागरिक निवास करते हैं। रहवासियों के अनुसार यहां की करीब 80 फीसदी स्ट्रीट लाइटें बंद हैं। जिन्हें चालू करवाने रहवासियों ने अब तक करीब एक दर्जन से अधिक बार शिकायत निगम में दर्ज करवाई है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kolar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Street Lights In Danikunj Are Poor For Months
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Kolar Bhaskar

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×