रात ढाई बजे घर में घुसे चोर से भिड़ी 12 साल की बच्ची; गले दबाने पर पंच मारा; तब बदमाश भागा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बहादुर बच्ची काव्या। - Dainik Bhaskar
बहादुर बच्ची काव्या।
  • बच्ची के मुकाबले में डटे रहने पर चोर को मात्र 700 रुपए ही चुराने का मौका मिला
  • बदमाश ने बच्ची के माता-पिता का कमरा बाहर से बंद कर दिया था

भोपाल. पहली मंजिल के दरवाजे से भागा। नरेंद्र ने बाहर देखा तो टीन शेड के रास्ते से एक युवक भाग रहा था। बदमाश पहली मंजिल का दरवाजा खोलकर अंदर आया था। वह घर से 700 रुपए और कुछ सामान चुरा ले गया।

काव्या बोली- पंच मारा तो बदमाश ने छोड़े हाथ
मैं सो रही थी। अचानक एक बदमाश मेरे ऊपर बैठ गया। उसने मेरे दोनों हाथ अपने पैरों से दबा रखे थे। वह दोनों हाथों से मेरा गला घोंट रहा था। मैंने शोर मचाने की कोशिश की, लेकिन गला दबा होने के कारण आवाज नहीं निकल रही थी। मैं घबरा गई थी। बड़ी मुश्किल से हाथ छुड़ाया और उसे जोरदार पंच मारा, जिससे उसकी गले की पकड़ कमजोर पड़ गई। इस बीच मैंने शोर मचाया। घबराकर बदमाश भागा। पापा के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। मैंने दरवाजा खोला तब पापा-मम्मी बाहर निकले। तब तक वह भाग चुका था।