--Advertisement--

विरोध / सवर्णों के नए संगठन की पुलिस से तीखी झड़प; कहा- 20 को सीएम हाउस का करेंगे घेराव



A clash with police of a new organization of upper caste
A clash with police of a new organization of upper caste
X
A clash with police of a new organization of upper caste
A clash with police of a new organization of upper caste

  • संगठन कार्यकर्ताओं ने पुलिस से बचकर जलाया नेताओं का पुतला 
  • सवर्णों का काला कानून विरोधी मोर्चा करेगा 17 सितंबर से बड़ा आंदोलन

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 07:09 PM IST

भोपाल. एससी एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में आंदोलित हुए सवर्णों का गुस्सा कम नहीं हुआ है। नए संगठन काला कानून विरोधी मोर्चा ने 20 सितंबर को सीएम हाउस का घेराव करने का ऐलान किया। मीडिया के सामने संगठन के पदाधिकारियों ने आंदोलन का खाका बताया। इसके बाद इनकी पुलिस से तीखी झड़प हुई। झड़प के बावजूद पदाधिकारियों ने पुलिस को चकमा देकर राजनीतिक पार्टियों का पुतला जला डाला।


संगठन के संयोजक पूर्व भाजपा नेता रघुनंदन शर्मा, पुष्पेंद्र मिश्रा, चंद्रशेखर तिवारी, राजेंद्र अवस्थी, किरण सिंह राठौर, सुखेंद्र मिश्रा, नीलम पाठक, मीनाक्षी सिंह, देवमणि चतुर्वेदी, राजेश जोशी, राजेंद्र अवस्थी समेत अन्य पदाधिकारियों ने मीडिया आंदोलन की जानकारी दी। शर्मा ने बताया की 17 सितंबर को होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा से पदयात्रा निकाली जाएगी। यह विभिन्न शहरों से होती हुई 20 सितंबर को सुबह भोपाल पहुंचेगी। यहां हबीबगंज नाका स्थित गणेश मंदिर के सामने सभी संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता इकट्ठे होंगे। यहां से सीएम  हाउस का घेराव करने के लिए निकलेंगे।
 
बड़ी कार में छुपा कर लाए थे पुतला
संगठन के पदाधिकारी रविंद्र भवन स्थित अप्सरा रेस्टोरेंट में पत्रकार वार्ता लेने पहुंचे थे। कुछ पदाधिकारी एक बड़ी कार में पुतला छुपा कर लाए थे। इसकी भनक पुलिस को लग गई और  रवींद्र भवन परिसर में पुलिस बल पहुंच गया। पत्रकारवार्ता लेने के बाद मोर्चा में शामिल संगठनों के पदाधिकारी कार की ओर बढ़ते इससे पहले ही उन्हें पुलिस अधिकारियों ने रोक लिया। पदाधिकारियों ने कार से पुतला निकालने का आग्रह किया तो पुलिस ने इनकार  कर दिया।

 

10 मिनट तक पुलिस से खींचतान 

कुछ पदाधिकारियों ने जबरदस्ती कार से पुतला निकाल लिया। यह देखते ही कुछ पुलिस कर्मियों ने पुतला छ़ुड़ाने की कोशिश की। करीब 10 मिनट तक प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच पुतले को लेकर खींचतान चलती रही। एक तरफ कुछ प्रदर्शनकारी नारेबाजी करने लगे। दूसरी तरफ कुछ पदाधिकारियों ने पुलिस को चकमा देकर पुतले जला दिया। प्रदर्शनकारियों ने सभी राजनीतिक दलों के रवैया के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

 

मोदी, राहुल का करेंगे विरोध, काले झंडे दिखाएंगे 
चंद्रशेखर तिवारी एवं पुष्पेंद्र मिश्रा ने मीडिया से कहा कि राजधानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जो भी कार्यक्रम होंगे। उस दौरान उन्हें काले झंडे दिखाए जाएंगे। कई नेताओं के मुंह पर कालिख भी पोती जाएगी।

 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..