• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • AIR 8 Raghav Dubey in AIIMS read from NCERT Books, waste of time in external books

एम्स रिजल्ट / 8वीं रैंक पाने वाले राघव ने कहा- एनसीईआरटी बुक्स से ही पढ़ा, दूसरी किताबों में वक्त की बर्बादी

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 05:06 PM IST



होशंगाबाद निवासी राघव दुबे की नीट में भी 10वीं रैंक आई थी। होशंगाबाद निवासी राघव दुबे की नीट में भी 10वीं रैंक आई थी।
राघव दुबे अपने पिता के साथ। उनके पिता खाद कारोबारी हैं। राघव दुबे अपने पिता के साथ। उनके पिता खाद कारोबारी हैं।
X
होशंगाबाद निवासी राघव दुबे की नीट में भी 10वीं रैंक आई थी।होशंगाबाद निवासी राघव दुबे की नीट में भी 10वीं रैंक आई थी।
राघव दुबे अपने पिता के साथ। उनके पिता खाद कारोबारी हैं।राघव दुबे अपने पिता के साथ। उनके पिता खाद कारोबारी हैं।

  • राघव ने नीट परीक्षा-2019 में 10वीं रैंक हासिल की थी, होशंगाबाद के रहने वाले हैं
  • क्रिकेट के शौकिन है राघव, भारत का मैच टीम की यूनिफार्म पहनकर ही देखते हैं

भोपाल. एम्स रिजल्ट में ऑल इंडिया 8वीं रैंक हासिल करने वाले होशंगाबाद के राघव दुबे कहते हैं कि उन्होंने एनसीईआरटी की किताबों से ही तैयारी की। राघव का मानना है कि दूसरी अन्य किताबों की मदद लेना वक्त की बर्बादी है। राधव ने नीट परीक्षा-2019 में 10वीं रैंक हासिल की थी। राघव के पिता हर्षित दुबे बिजनेसमैन और मां रश्मि होममेकर हैं। 

 

राघव ने कोटा में जाकर तैयारी की। वह कहते हैं कि कोटा जाकर तैयारी का मकसद एम्स के एग्जाम को क्रेक करना था। वह बताते हैं कि राेजाना 7-8 घंटे स्टडी करता था। फोकस हमेशा एनसीईआरटी की किताबों पर रखा। कारण यह है कि एनसीईआरटी की किताबें इतनी सरल होती हैं कि इनसे विषय को आसानी से समझने में मदद मिलती है। 

 

राघव का मानना है कि स्टूडेंट्स अक्सर कोर्स के बाहर की किताबें तलाशते हैं और उन्हें समझने का प्रयास करते हैं। इसमें काफी टाइम वेस्ट हो जाता है। इस कारण वह एग्जाम में परफॉर्म नहीं कर पाते हैं।

 

राघव को क्रिकेट-फुटबॉल का शौक

राघव क्रिकेट और फुटबॉल के भी शौकीन हैं। जब भी भारत का वन डे मैच होता है तो वे टीम इंडिया की यूनिफार्म पहनकर ही मैच देखते हैं। रविवार को अपने घर पहुंचे राघव ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के मैच के लिए उन्होंने पहले से इंडिया टीम की टी शर्ट मंगा ली थी।

 

राघव ने बताया कि 2015 के वर्ल्ड कप से ही वह टीम की टीशर्ट पहनकर मैच देखते हैं। क्रिकेट की तरह ही उन्हें फुटबॉल देखने का भी शौक है। फुटबाल में रोनाल्डो उनके पसंदीदा प्लेयर हैं। क्रिकेट में वे एमएस धोनी और रोहित शर्मा के खेल से प्रभावित हैं। 

 

इन्हें भी मिली रैंक 

राघव के अलावा भोपाल के कुनाल मोदी को ऑल इंडिया 65वीं रैंक, कीर्ति अग्रवाल को 161वीं रैंक, चैतन्य चतुर्वेदी को 432वीं रैंक, शिवांग अग्रवाल को 486 वीं रैंक और ईशान मिश्रा को 531 वीं रैंक मिली। एम्स परीक्षा 25-26 मई को दो पालियों में आयोजित की गई थी, जिसके माध्यम से वर्तमान शैक्षिक सत्र में 11 एम्स संस्थानों की लगभग 1207 एमबीबीएस सीटों पर प्रवेश दिया जाएगा। इस परीक्षा में भोपाल से करीब 3500 छात्र शामिल हुए थे।

COMMENT