Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Ambulance Trapped In Traffic Jam During Kamalnath Rally

कमलनाथ की रैली : 7 माह की बच्ची को ले जा रही एंबुलेंस ट्रैफिक जाम में फंसी, शुक्र है सकुशल है

एंबुलेंस को इस 100 मीटर की दूरी तय करने में डेढ़ मिनट के बजाय 20 मिनट से अधिक का समय लग गया।

Bhaskar News | Last Modified - May 02, 2018, 12:43 AM IST

  • कमलनाथ की रैली : 7 माह की बच्ची को ले जा रही एंबुलेंस ट्रैफिक जाम में फंसी, शुक्र है सकुशल है
    +1और स्लाइड देखें

    भोपाल.हमीदिया अस्पताल का गेट। दोपहर 2. 19 बजे। मध्यप्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष कमलनाथ के स्वागत के लिए रैली निकल रही थी। जीएडी क्रॉसिंग ब्रिज के उतार पर फंसी एक एंबुलेंस का सायरन किसी को सुनाई नहीं दे रहा था। एंबुलेंस हमीदिया अस्पताल के गेट से सिर्फ 100 मीटर की दूरी पर थी। इस एंबुलेंस में एक नन्ही सी जान थी, जिसे खून की कमी के चलते ऑक्सीजन लगाकर हमीदिया ले जाया जा रहा था। ट्रैफिक जवान भी वहां मौजूद था लेकिन इस जाम के आगे वो भी बेबस था। बिना एसी की इस एंबुलेंस में 7 माह की बच्ची तेज गर्मी में मां की गोद में बिलखती रही।

    एंबुलेंस को इस 100 मीटर की दूरी तय करने में डेढ़ मिनट के बजाय 20 मिनट से अधिक का समय लग गया। एंबुलेंस के ड्राइवर अशोक मेवाड़ा ने बताया कि ब्रिज पर आने पर जाम मिला। जब तक एंबुलेंस वापस करने की सोच पाता, तब तक पीछे वाहन लग चुके थे। शुक्र है बच्ची सकुशल है।

    आपबीती... एंबुलेंस के लिए तो रास्ता छोड़ दो
    बेटी को मंगलवार को डॉक्टरों ने खून की कमी बताते हुए सीहोर से हमीदिया अस्पताल रैफर कर दिया। खटारा एंबुलेंस भट्टी की तरफ तपती रही और ऊपर से रैली ने परेशानी बड़ा दी। मेरी बेटी बिलखती रही। कोई भी पार्टी हो। कारण कुछ भी हो। कम से कम अस्पताल के लिए रास्ता तो छोड़ दो। जश्न में किसी की जिंदगी को इतने हल्का न बनाओ।- ममता बाई ने जैसा दैनिक भास्कर को बताया...

    यहां कर दिए थे रास्ते बंद

    ट्रैफिक पुलिस ने एक दिन पहले ट्रैफिक डायवर्सन प्लान जारी किया था, लेकिन उसमें कहीं भी किसी भी रास्ते को बंद करने की बात नहीं कही थी। लेकिन शिवाजी चौराहा से लेकर पीसीसी कार्यालय तक का रास्ता दोनों तरफ से बंद था। दोपहर बाद रोशनपुरा से अपैक्स बैंक तिराहा, राजभवन तिराहा से प्रधान चौराहा की तरफ जाने वाले रास्ते भी बंद कर दिए गए थे।

    अलर्ट के अनुसार करें रास्तों का चयन
    भोपाल आईजी जयदीप प्रसाद ने बताया कि पहले से जारी अलर्ट के अनुसार ही कहीं जाने के लिए रास्तों का चयन करने से ट्रैफिक जाम जैसी समस्या से बचा जा सकता है। जहां तक एंबुलेंस के फंसने की बात है, तो ड्राइवर को पुलिसकर्मियों से मदद लेनी चाहिए थी।

    इसलिए जाम

    - पूरे समय ट्रैफिक पुलिस रैली में साथ रही लेकिन किसी ने लोगों की मदद रास्तों पर नहीं की।
    - रैली के दौरान अचानक रास्ते बंद होने के कारण अाधे-आधे घंटे तक फंसते रहे वाहन चालक

    इन रास्तों पर ट्रैफिक के दबाव के चलते रही अधिक परेशानी
    - सिंगारचोली से लालघाटी चौराहे के बीच सबसे ज्यादा परेशानी हुई।
    - जीएडी ओवर ब्रिज से मोती मस्जिद चौराहा के बीच आधे-आधे घंटे वाहन रेंगते रहे।
    - कमला पार्क से लेकर पॉलीटेक्निक चौराहा अौर रोशनपुरा से पीसीसी कार्यालय तक होते रहे लोग परेशान।

  • कमलनाथ की रैली : 7 माह की बच्ची को ले जा रही एंबुलेंस ट्रैफिक जाम में फंसी, शुक्र है सकुशल है
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×