Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Farmer's Death Waiting For Four Days For Tuition, Angry Farmers Did The Trick

तुलाई के लिए चार दिन से लाइन में इंतजार कर रहे किसान की मौत, नाराज किसानों ने किया चक्काजाम

जिले के लटेरी में उपज की तुलाई का 4 दिन से इंतजार कर रहे किसान की गुरुवार को सुबह मौत हो गई है।

अनुराग शर्मा | Last Modified - May 18, 2018, 10:55 AM IST

    • विदिशा के लटेरी में अपनी उपज के बिकने का इंतजार कर रहे किसान की मौत हो गई।

      भोपाल/विदिशा.जिले के लटेरी में उपज के तुलने का 4 दिन से इंतजार कर रहे किसान की गुरुवार को मौत हो गई। 65 वर्षीय किसान चार दिन पहले चना लेकर मंडी आया था। तब से लाइन में लगकर चना की तुलाई का इंतजार कर रहा था। मौत से नाराज किसानों ने चक्काजाम कर दिया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी किसानों को मौके मनाने पहुंच गए हैं। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जिला प्रशासन ने मृतक किसान के परिजनों को तत्काल 4 लाख रुपए की मदद देने की घोषणा की है।

      - बताया जा रहा है कि किसान मूलचंद (65) चने लेकर लटेरी मंडी आया था। उसके चने की तुलाई चार दिन से नहीं हो पा रही थी।चार दिन से तुलाई का इंतजार कर रहा था, तपती धूप में किसान बेहाल था। गुरुवार को सुबह टॉयलेट से लौटा तो चक्कर खाकर ट्रैक्टर के पास गिर गया और वहीं उसकी मौत हो गई। किसान चार दिन से मंडी में रात गुजार रहा था।

      -असल में, यहां पर तौल कांटे केवल 8 होने और किसानों को टोकन में एक-दो दिन आगे की डेट दी जाती है। इससे किसानों की परेशानी बढ़ जाती है।

      लंबी कतार में कर रहे हैं इंतजार

      - इसके बाद मंडी में हंगामा हो गया, किसानों की भीड़ जुट गई। मृतक किसान का बेटा अपनी पिता की डेड बॉडी के साथ रोता रहा। नाराज किसानों ने मृतक किसान की बॉडी को रखकर चक्काजाम कर दिया। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस और प्रशासन के लोग पहुंच गए हैं। वह किसान के परिजनों को समझाइश दे रहे हैं। साथ ही पूरे मामले की जांच शुरू हो गई है। किसानों ने कहा मंडी में सैकड़ों किसानों की लाइन लगी है। ट्रैक्टर अलग से लाए गए हैं, ऐसे में दो-दो दिन इंतजार करना पड़ रहा है।

      चार दिन से लाइन में लगे थे पिता

      -मृतक के बेटे ने बताया कि 4-5 दिन से हम फसल तुलाई के लिये लाइन में लगे थे, गुरुवार को पिताजी की मौत हो गई। पिता की मौत हो जाएगी, ऐसा पता होता तो फसल ही नही तुलाते। मंडी में किसानों की लंबी लाइन लगी है, तपती गर्मी में किसानों के बुरे हाल हैं।

      एसपी को सूचना देने पर पहुंची पुलिस
      -किसान की मौत के एक घंटे बाद भी जब पुलिस नहीं आई तो विदिशा एसपी विनित कपूर को मामले की सूचना दी गई। तब जाकर पुलिस घटना स्थल पहुंची और शव अपने कब्जे में लिया।
      डॉक्टर ना होने की स्तिथि में शव को पोस्टमार्टम के लिए सिरोंज भेजा गया है। किसान की मौत से नाराज हुए किसानों ने मूलचन्द की मौत से स्थानीय प्रशासन को जमकर खरी खोटी सुनाई। घटना की जानकारी पर एसडीएम अशोक कुमार मांझी, तहसीलदार शत्रुघन चौहान सब इंस्पेक्टर बनबारी लाल मौके पर पहुंच गए।

      मंडी में 400 किसान कतार में

      - मंडी में चार दिन से 100 से ज्यादा ट्रैक्टर जमा हैं।

      - करीब 400 किसानों की कतार लगी है।

      - तुलावटी केंद्र में कुल 8 कांटे हैं, जिससे किसानों की भीड कम नहीं हो रही।

      - किसानों को दो-चार दिन आगे का टोकन दिया जाता है।

    • तुलाई के लिए चार दिन से लाइन में इंतजार कर रहे किसान की मौत, नाराज किसानों ने किया चक्काजाम
      +2और स्लाइड देखें
      लटेरी कृषि उपज मंडी में सैकड़ों ट्रैक्टर जमा हैं, जिससे किसानों को परेशानी हो रही है।
    • तुलाई के लिए चार दिन से लाइन में इंतजार कर रहे किसान की मौत, नाराज किसानों ने किया चक्काजाम
      +2और स्लाइड देखें
      इससे नाराज किसानों ने चक्काजाम कर दिया।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Farmer's Death Waiting For Four Days For Tuition, Angry Farmers Did The Trick
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×