ये हैं अन्नदूत... किसी ने रोटी बैंक खोला तो कोई होटलों से जुटाता है बचा खाना, मिशन सिर्फ एक...कोई भूखा न सोए, यहां तो प्लेट में खाना छोड़ने पर लगता है जुर्माना

मध्यप्रदेश न्यूज : हर संस्था के अपने नियम, जानवरों के लिए भी इकट्‌ठा करते हैं खाना

dainikbhaskar.com

Apr 16, 2019, 11:03 AM IST
Bhopal MP News In Hindi : Annadoots Of City Someone Opens Roti Bank And Gathered Food Form Hotels

राजेश चंचल, भोपाल (मध्यप्रदेश)। अन्न की बर्बादी रोकने व जरूरतमंदों को भोजन मिल सके... कुछ इसी उद्देश्य के साथ शहर में कुछ संस्थाएं काम कर रही हैं। ये संस्थाएं शादी, भंडारे, होटलों से बचे खाने को जरूरतमंदों तक पहुंचाती हैं। इसके लिए बकायदा कुछ ने रोटी बैंक भी खोला है। शनिवार-रविवार को ही कुछ संस्थाओं ने भंडारों से बचे भोजन को करीब 1500 जरूरतमंदों तक पहुंचाया। इन संस्थाओं का एक ही मकसद है शहर में कोई भी भूखा न सोए।

दरअसल, शहर में कई संस्थाएं अपने स्तर पर भोजन की बर्बादी को रोकने के लिए करीब दो सालों से काम कर रही है। नवरात्र के समापन पर शनिवार-रविवार को शहर में कई जगह भंडारे हुए। कई भंडारों में खाना बच गया। इस खाने को जरूरतमंदों तक पहुंचाने का काम रॉबिनहुड आर्मी ने किया। इसके अलावा अल रकीब सोसायटी, अल नईम ट्रस्ट और दाऊदी बोहरा समाज द्वारा भी जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। कुछ दिन पहले गुजराती समाज की कमेटी ने अपने द्वारा आयोजित किसी भी समारोह में होने वाले भोज में प्लेट या थाली में भोजन छोड़ने वाले पर 200 रुपए का जुर्माना करने का फैसला लागू किया है। निगरानी के लिए भवन परिसर में कैमरे भी लगाए गए हैं।

150 युवा... शादी-पार्टी से बचा खाना एकत्रित कर बांटते हैं

रॉबिनहुड आर्मी : इससे 150 युवा जुड़े हैं। बीते दो साल से यह आर्मी होटल, सामूहिक भोज समेत अन्य कार्यक्रमों में बचे खाने को रेलवे स्टेशन, अस्पताल और सार्वजनिक स्थानों पर बांटते हैं। शनिवार को आर्मी ने गुलमोहर और कोलार क्षेत्र के दो भंडारा स्थलों से बचे खाने को एकत्रित किया और रात 9 बजे से 2 बजे तक 200 जरूरतमंदों तक पहुंचाया। हेल्पलाइन नंबर... 7415620643

एक ही अपील...खाना फेंकें नहीं जरूरतमंदों तक पहुंचाने हमें दें

अल रकीब सोसायटी ने इकबाल मैदान के नजदीक रोटी बैंक का काउंटर खोला है। यहां व्यक्तिगत स्तर पर लोग घर में बचा खाना, जमा करने आते हैं। संस्था के प्रमुख मो. यावर खान ने बताया कि वह समाज के लोगों से हर मीटिंग में एक ही बात कहते हैं- खाना फेंके नहीं, जरूरतमंदों तक पहुंचाने के लिए हमें दे दें। इसी अपील का असर है कि रोज औसतन खाने के 125 पैकेट रोटी बैंक काउंटर पर जमा होते हैं। काउंटर से खाना बांटने का समय सुबह 10 से दोपहर 2.30 बजे और शाम 6 से रात 10 बजे तक का तय किया हुआ है। हेल्पलाइन नंबर - 9111004666

हर दाने की निगरानी

दाऊदी बोहरा समाज के जमात खाना में रोजाना 100 लोगों की जरूरत का खाना बनता है। इसके अलावा समाज के लोगों के घर से भी यहां खाना आता है। इससे जमात खाने में रोज औसतन 30 लोगों का खाना अलग-अलग मस्जिद में बच जाता है। इस बचे हुए खाने को बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन के फुटपाथ पर भूखे सोने वालों के बीच बांटा जाता है। इसकी निगरानी समाज की दाना कमेटी करती है।

इंदौर में सफलतापूर्वक चल रही अन्नदान योजना...

इंदौर में अक्टूबर 2016 में शुरू हुई अन्नदान योजना आज भी सफलतापूर्वक चल रही है। नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे ने इंदौर में संभागायुक्त रहते हुए सार्वजनिक आयोजनों में बचा हुआ भोजन फेंकते हुए देखा तो यह योजना शुरू की। इसके लिए एक एप बनाया गया है।

हर हफ्ते ... दो दिन अस्पताल और बस स्टैंड पर बांटते हैं खाना

जमीअत उलमा मप्र की इकाई अल नईम ट्रस्ट द्वारा रोटी बैंक बनाया गया है। इसके प्रमुख हाजी मो. हारुन ने बताया कि संस्था द्वारा सप्ताह में दो दिन अस्पतालों में मरीजों के परिजनों व बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन अादि स्थानों पर भोजन बांटने का काम किया जाता है। इस संस्था के इकबाल मैदान समेत कई स्थानों पर केंद्र बनाए गए है, जहां लोग बचा हुअा भोजन पहुंचाते हैं। कभी खाना कम मिलता है, तो यह संस्था खुद भोजन तैयार कर उसे बांटती है। हेल्पलाइन नंबर -9111844356

पहली रोटी गाय के लिए

इस परंपरा को बनाए रखने का बीड़ा नेहरू नगर स्थित करुणाधाम आश्रम प्रबंधन उठाया है। आश्रम की वैन इलाके में लोगों के घरों से रसोई की पहली रोटी और बचा हुआ खाना इकट्‌ठा किया जाता है। इस खाने को आश्रम द्वारा संचालित गौशाला में गायों को खिलाया जाता है। आश्रम की गौशाला में करीब 250 गाय हैं।

एक पहल ऐसी भी... कॉलोनी में होने वाले किसी भी आयोजन में नहीं करते डिस्पोजल का इस्तेमाल

शादी भोज, जन्मदिन पार्टी भोज, भंडारा सहित दूसरे भोज कार्यक्रमों में डिस्पोजेबल ग्लास, प्लेट, कटोरी सहित अन्य आइटम का उपयोग नहीं करेंगे। यह फैसला लहारपुर दशहरा मैदान स्थित दुर्गा मंदिर में बाग मुगालिया एक्सटेंशन कॉलोनी विकास समिति एवं संस्कार उत्सव समिति की बैठक में हुआ। बाग मुगालिया एक्सटेंशन कॉलोनी विकास समिति के अध्यक्ष उमाशंकर तिवारी ने बताया कि डिस्पोजेबल के उपयोग से प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है। बकौल तिवारी मीटिंग के बाद आयोजित सामूहिक भोज में डिस्पोजेबल आइटम के स्थान पर वाशेबल प्लेट, कटोरी एवं स्टील के गिलास का उपयोग किया गया। भविष्य में भी हर आयोजन में इस फैसले को लागू किया जाएगा।

X
Bhopal MP News In Hindi : Annadoots Of City Someone Opens Roti Bank And Gathered Food Form Hotels
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना