--Advertisement--

ऑनलाइन फीस के नाम पर वसूली जा रही मनमानी राशि

उच्च शिक्षा विभाग द्वारा स्टूडेंट्स से ऑनलाइन फीस जमा करवाई जा रही है। कुछ कॉलेज प्रबंधन उन्हें एमपी ऑनलाइन के...

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 02:11 AM IST
उच्च शिक्षा विभाग द्वारा स्टूडेंट्स से ऑनलाइन फीस जमा करवाई जा रही है। कुछ कॉलेज प्रबंधन उन्हें एमपी ऑनलाइन के कियोस्क पर फीस जमा कराने की सलाह दे रहे हैं। लेकिन कियोस्क संचालक छात्र-छात्राआें से तय राशि से ज्याद कमीशन वसूल रहे हैं।

डीबी स्टार
उच्च शिक्षा विभाग ने सरकारी कॉलेज के छात्रों के लिए ऑनलाइन फीस जमा करने का फरमान जारी किया है। यह व्यवस्था प्रदेश भर में वर्ष 2016 से लागू की गई है। इसके लिए ई-प्रवेश पोर्टल भी तैयार कराया गया है, जिसमें स्नातक और स्नातकोत्तर कोर्सेस के लिए अलग-अलग ऑप्शन रखे गए हैं। इसके जरिए छात्र ऑनलाइन फीस जमा कर सकते हैं।

विभाग ने इसके लिए कॉलेजों को पीओएस मशीनें लगाने के निर्देश दिए थे। फिर भी कुछ कॉलेजों में ये मशीनें अब तक नहीं लगी हैं। ऐसे में कॉलेज प्रबंधन स्टूडेंट्स कोे फीस जमा कराने एमपी ऑनलाइन के कियोस्क सेंटर भेज रहा है। कियोस्क सेंटर संचालक उनसे निर्धारित फीस के अलावा 100 से 150 रुपए अधिक वसूल रहे हैं। एक शिकायत के आधार पर डीबी स्टार टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि कियोस्क सेंटर छात्र-छात्राओं की भीड़ है। कियोस्क सेंटर पर प्रत्येक छात्रा से 100 से 150 रुपए तक ले रहे थे। टीम ने स्वयं अभिभावक बनकर पीजी कोर्स की 12090 रुपए फीस जमा करानी चाही, तो कियोस्क सेंटर संचालक ने 12500 रुपए की मांग की।

40 रुपए तय फीस

ऑनलाइन फीस जमा कराने के लिए उच्च शिक्षा विभाग और एमपी ऑनलाइन के बीच अनुबंध हुआ है। इसके मुताबिक फीस जमा करने के एवज में एमपी ऑनलाइन के कियोस्क सेंटर संचालक 40 रुपए अधिक ले सकते हैं। ये राशि कियोस्क सेंटर के लिए कमीशन बतौर तय की गई है। इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग के अफसरों का कहना है कि इस मामले की शीघ्र ही जांच कराई जाएगी।