--Advertisement--

विधानसभा चुनाव / इस बार नामांकन दाखिले से मतदान तक शादियों के मुहूर्त नहीं



assembly election 2018
X
assembly election 2018

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2018, 08:33 PM IST

भोपाल। इस बार विधानसभा चुनाव में मतदान करने के लिए लाइन में लगे दूल्हा-दुल्हन नहीं दिखेंगे। वजह, चुनाव पर न शादियों का असर पड़ेगा, न शादियों पर चुनाव का। नामांकन से लेकर मतदान की तारीखों के बीच 18 नवंबर को देवउठनी एकादशी भी आएगी लेकिन गुरु अस्त होने से इस दिन भी विवाह के मुहूर्त नहीं हैं। 28 नवंबर को मतदान के दिन भी यही स्थिति है, हालांकि मतगणना के दिन 11 दिसंबर को शादियां हो सकती हैं, लेकिन इस दिन श्रेष्ठ मुहूर्त नहीं है। 

 

ज्योतिषाचार्य पं. रामगोविंद शास्त्री के अनुसार 19 अक्टूबर से 1 नवंबर तक शुक्र तारा अस्त रहेगा। इसके बाद 15 नवंबर से 10 दिसंबर तक गुरु तारा अस्त रहेगा। इस दौरान 18 नवंबर को देवउठनी एकादशी है लेकिन तारा अस्त होने से इस दिन भी विवाह के मुहूर्त नहीं है। 10 दिसंबर को तारा उदय होने के बाद 16 दिसंबर से मलमास शुरू हो जाएगा, जो 14 जनवरी 2019 तक रहेगा। यानी 14 जनवरी के बाद ही शादियों के मुहूर्त निकलेंगे। हालांकि 10 से 15 दिसंबर के बीच कोई व्यवधान नहीं है लेकिन इस बीच अच्छे मुहूर्त नहीं हैं। 

 

पं. केशव महाराज के अनुसार शादियों के मुहूर्त नहीं होने से मतदान प्रभावित होने की संभावना नहीं है। इस बीच केवल बिना मुहूर्त वाली शादियां ही होंगी, जिनकी संख्या नगण्य रहती हैं। मैरिज गार्डन संचालक राजेश सैनी के अनुसार नवंबर में एक भी बुकिंग नहीं है। बस ऑपरेटर अशोक श्रीवास्तव ने कहा मतदान दलों के लिए प्रशासन बसें अधिगृहित करता है। 

 

शादियों के लिए बुकिंग नहीं होने से इस बार किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार निर्वाचन व्यवस्था की दृष्टि से यह राहत की बात है कि मतदान की तारीख के आसपास विवाह के मुहूर्त नहीं हैं। 

 

चुनाव की खास तारीखें और मुहूर्त 
-  नामांकन दाखिल : 2 से 9 नवंबर, 18 नवंबर को देवउठनी ग्यारस है। इसी के बाद शादी के मुहूर्त निकलते हैं। 
- मतदान : 28 नवंबर - गुरु अस्त रहेगा। इसलिए विवाह नहीं होंगे। 
- मतगणना : 11 दिसंबर - मांगलिक कार्य हो सकते हैं लेकिन श्रेष्ठ मुहूर्त नहीं।

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..