--Advertisement--

मप्र / टिकट नहीं मिलने से नाराज भाजपा-कांग्रेस के 6 नेताअों ने थामा तीसरे मोर्चे का दामन



assembly election 2018, bagi leader of congress and bjp
X
assembly election 2018, bagi leader of congress and bjp

  • कांग्रेस नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी राजनगर से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे
  • भाजपा के पूर्व विधायक रमेश खटीक को सपाक्स ने करैरा से टिकट दिया
  • आप, बसपा, सपाक्स सहित कई अन्य दल सभी 230 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 10:37 AM IST

भोपाल (राहुल शर्मा).   प्रदेश में तीसरा मोर्चा भी पूरी दमखम के साथ चुनावी जंग के लिए तैयार है। तीसरे मोर्चे के कई ऐसे प्रत्याशी हैं, जो भाजपा-कांग्रेस के प्रत्याशियों के लिए टेंशन का सबब बन रहे हैं। इनमें नितिन चतुर्वेदी, आलोक अग्रवाल, परिणिता राजे, रमेश खटीक, डॉ केएल साहू और अनुमा आचार्य शामिल हैं। यह सभी प्रत्याशी अपने क्षेत्र में लंबे समय से सक्रिय हैं। खास बात यह है कि आम आदमी पार्टी, बसपा, सपाक्स सहित कई अन्य दल सभी 230 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार चुके हैं।  

 

 


तीसरे मोर्चे के दलों में कई ऐसे नेता भी शामिल हुए हैं, जो टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर भाजपा-कांग्रेस से आए हैं। इसके अलावा प्रतिष्ठित पदों को छोड़कर भी कई अधिकारी चुनाव रण में नजर अाने वाले हैं। जानकारों का मानना है कि परिणाम चाहे जो भी, लेकिन ये नेता सियासी गणित पर सीधे प्रभाव डालेंगे। इधर आदिवासी अधिकारों की मांग को लेकर बड़ा आंदोलन खड़ा करने वाली जयस चुनाव से हट गई है।  

 

वो चेहरे, जो दोनों प्रमुख पार्टियों को दे सकते हैं चुनौती

 

  • नितिन चतुर्वेदी : बुंदेलखंड अंचल से कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी राजनगर से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में ब्राह्मण वोटों के बंटवारे की संभावना बढ़ गई है। सीट पर अरविंद पटेरिया भाजपा के तो विक्रम सिंह नातीराजा कांग्रेस प्रत्याशी हैं। 
  • आलोक अग्रवाल : आप के प्रदेशाध्यक्ष आलोक अग्रवाल सामाजिक कार्यकता मेधा पाटकर के साथ नर्मदा बचाओ आंदोलन से जुड़े रहे हैं। वे भोपाल की दक्षिण-पश्चिम सीट से मैदान में हैं। इस सीट पर पीसी शर्मा कांग्रेस और उमाशंकर गुप्ता भाजपा प्रत्याशी हैं। अग्रवाल इस क्षेत्र में काफी समय से सक्रिय हैं। 
  • परिणिता राजे : परिणिता कांग्रेस का दामन छोड़ आप में शामिल हुई थीं। वे सेवढ़ा से प्रत्याशी हैं। इसी तरह चित्रकूट से राजवंश सिंह आप के प्रत्याशी हैं। उनके पिता दो बार सांसद रह चुके हैं। गुढ़ से कांग्रेस छोड़कर आए बालेंदु शुक्ला भी चुनाव लड़ रहे हैं। आप पदाधिकारियों का मानना है कि अन्य पार्टियों से आप में आए प्रत्याशी उनके परंपरागत वोट बैंक पर असर डालेंगे। 
  • रमेश खटीक : भाजपा के पूर्व विधायक रमेश खटीक को सपाक्स ने करैरा से टिकट दिया है। लंबे समय से क्षेत्र में सक्रिय खटीक इस बार सपाक्स के जरिए ही भाजपा को टक्कर देंगे। 
  • डॉ. केएल साहू : भोपाल की दक्षिण पश्चिम सीट से सपाक्स के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। डॉ. साहू स्वास्थ्य विभाग में संचालक रहे हैं। वे काफी समय से सपाक्स में सक्रिय हैं। इधर, नरेला विधानसभा क्षेत्र से सपाक्स ने रिटा. कर्नल केसरी सिंह को मैदान में उतारा है। 
  • अनुमा आचार्य : रिटा. विंग कमांडर अनुमा आचार्य विदिशा से आप के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। हाल में उन्होंने फेसबुक पर लिखा था कि मैं 35 लाख रुपए सालाना की नौकरी छोड़कर आई हूं। 

 

बसपा ने घोषित किए और 70 प्रत्याशी : बहुजन समाज पार्टी अब तक 220 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। भोपाल जिले की सभी सातों सीटों पर भी बसपा ने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। इधर, सपाक्स ने भी 40 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। पार्टी के महासचिव सुरेश तिवारी ने बताया कि अब तक पार्टी प्रदेशभर में 140 प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। 

 

ठंडा पड़ा जयस का पूरा आंदोलन 
मनवार से जयस के राष्ट्रीय संरक्षक डॉ. हीरालाल अलावा के कांग्रेस प्रत्याशी घोषित होते ही पूरा आंदोलन ठंडा पड़ गया है। अब जयस चुनाव मैदान में नहीं उतरेगा। जयस के जो पदाधिकारी चुनाव लड़ना चाहते हैं, अब वे निर्दलीय लड़ेंगे। डॉ. अलावा ने पहले कांग्रेस से कुक्षी से जयस का प्रत्याशी खड़ा करने की मांग की थी। डॉ. अलावा ने घोषणा की थी कि जयस 80 आदिवासी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगा, लेकिन कांग्रेस प्रत्याशी बनते ही अलावा ने तर्क दिया कि जयस एक विचार है और कांग्रेस ने निवास से भी आदिवासी महापंचायत के डॉ. अशोक मर्सकोले को टिकट दिया है। इसलिए अब जयस चुनाव मैदान में नहीं है। आदिवासी अधिकारों की मांग को लेकर अलावा ने बड़ी सभा भी की थी। डॉ. अलावा के इस फैसले से जयस के पदाधिकारियों में नाराजगी है। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..