Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Baba Want Bangla And Gunman

अब बाबाओं को चाहिए बंगला और गनमैन, बोले-इस वजह से कर रहे हैं ऐसी डिमांड

ऐलान करते ही राज्यमंत्री के दर्जे से नवाजे गए बाबा योगेंद्र महंत ने अपनी सुरक्षा के लिए सरकार से गनमैन मांग लिया है।

​शैलेंद्र चौहान | Last Modified - May 03, 2018, 01:58 AM IST

अब बाबाओं को चाहिए बंगला और गनमैन, बोले-इस वजह से कर रहे हैं ऐसी डिमांड

भोपाल।नर्मदा घोटाला रथयात्रा निकालने का ऐलान करते ही राज्यमंत्री के दर्जे से नवाजे गए बाबा योगेंद्र महंत ने अपनी सुरक्षा के लिए सरकार से गनमैन मांग लिया है। इसके पहले कम्प्यूटर बाबा भी सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड और गनमैन ले चुके हैं। दोनों ही बाबा भोपाल में बंगला भी तलाश रहे हैं।

- सरकार ने अभी प्रदेश के सात साधु-संतों को सुरक्षा के लिए गनमैन की सुविधा मुहैया कराई है।

- राज्य सरकार ने पिछले महीने नर्मदा किनारे के क्षेत्रों में पौधारोपण, जलसरंक्षण तथा स्वच्छता के विषयों पर जनजागरुकता का अभियान चलाने के लिए विशेष समिति का गठन किया था।

- इसमें सात सदस्य बनाए गए थे, जिनमें 5 साधु-संत शामिल हैं। ये संत बाबा नर्मदानंद, हरिहरानंद, कम्प्यूटर बाबा, भय्यू महाराज और पं. योगेंद्र महंत हैं।

दावा था... सवा लाख स्थानों पर पौधों की गिनती कर सच सामने लाएंगे

- कंप्यूटर बाबा और योगेंद्र महंत ने साधु-संतों की टोली साथ लेकर नर्मदा घोटाला रथ यात्रा निकालने का ऐलान किया था।

- इनका दावा था कि पिछले साल 2 जुलाई को नर्मदा के किनारे सरकार ने 6.67 करोड़ पौधे लगाने का झूठी घोषणा की है।

- प्रदेश में सभी सवा लाख स्थानों पर पौधों की गिनती के साथ सच सामने लाया जाएगा। कंप्यूटर बाबा और योगेंद्र महंत ने साधु-संतों की टोली साथ लेकर नर्मदा घोटाला रथ यात्रा निकालने का ऐलान किया था।

- इनका दावा था कि पिछले साल 2 जुलाई को नर्मदा के किनारे सरकार ने 6.67 करोड़ पौधे लगाने का झूठी घोषणा की है।

-प्रदेश में सभी सवा लाख स्थानों पर पौधों की गिनती के साथ सच सामने लाया जाएगा।

जिम्मेदारी... पौधारोपण व स्वच्छता मिशन की
- बाबाओं की इस घोषणा के तीन दिन बाद सरकार ने विशेष समिति बनाई थी। इस समिति के सभी सदस्यों को राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया गया।

- बाबाओं को नर्मदा किनारे पौधारोपण और स्वच्छता मिशन चलाने की जिम्मेदारी दी गई है।

पीछे हटे... दो संतों ने छोड़ दिया दर्जा
-भोपाल में 17 अप्रैल को समिति में शामिल दो संतों ने राज्यमंत्री का दर्जा छोड़ने की घोषणा की थी। भय्यू महाराज ने स्पष्ट कर दिया था कि वे मंत्री का पद नहीं लेंगे।

- दूसरे संत नर्मदानंद ने भी कहा था कि वे तत्काल राज्यमंत्री का दर्जा छोड़ रहे हैं।

प्रोटोकॉल के हिसाब से सुरक्षा की मांग की है
प्रदेशभर में नर्मदा किनारे के क्षेत्रों में सघन दौरे करेंगे, जिसके चलते सुरक्षा के लिए गनमैन की जरूरत पड़ेगी। भोपाल में बंगले की जरूरत भी होगी। हमने प्रोटोकॉल के हिसाब से सभी मांग की है।
- योगेंद्र महंत, सदस्य, विशेष समिति

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×