मौसम / जोरदार मानसून के बाद भी भोपाल में 88 प्रतिशत कम हुई बारिश



भोपाल में बड़ा तालाब कम बारिश की वजह से भरा नहीं है। भोपाल में बड़ा तालाब कम बारिश की वजह से भरा नहीं है।
अच्छा मानसून होने के बाद भी राजधानी भोपाल में कम बारिश हुई। अच्छा मानसून होने के बाद भी राजधानी भोपाल में कम बारिश हुई।
X
भोपाल में बड़ा तालाब कम बारिश की वजह से भरा नहीं है।भोपाल में बड़ा तालाब कम बारिश की वजह से भरा नहीं है।
अच्छा मानसून होने के बाद भी राजधानी भोपाल में कम बारिश हुई।अच्छा मानसून होने के बाद भी राजधानी भोपाल में कम बारिश हुई।

  • आगामी 24 घंटे में प्रदेश के 26 जिलों में भारी या अति बारिश का अनुमान

Dainik Bhaskar

Jul 05, 2019, 07:38 PM IST

भोपाल. बीते 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में सामान्य से 265 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई। जहां पूर्वी मध्य प्रदेश में ये 210 प्रतिशत अधिक रही। वहीं पश्चिमी मध्य प्रदेश में 326 प्रतिशत अधिक रही। प्रदेश में सर्वाधिक बारिश खंडवा और रतलाम में 1393 प्रतिशत ज्यादा रिकॉर्ड की गई, वहीं दमोह में सामान्य से 1022 प्रतिशत अधिक रही। 

 

प्रदेश में जोरदार मानसून के बाद भीं भिंड जिले में तो वर्षा ही दर्ज नहीं की गई। सबसे कम बारिश रीवा जिले में सामान्य से 89 फीसदी कम दर्ज की गई। वहीं राजधानी भोपाल में सामान्य से 88 फीसदी कम एवं सिंगरौली में 83 फीसदी कम रही। प्रदेश के 31 जिलों में सामान्य या उससे ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। पूरे प्रदेश में सीधी और सिंगरौली में जीरो बारिश रिकॉर्ड की गई है। 

 

मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है। प्रदेश के 26 जिलों में भारी और कहीं-कहीं अति वृष्टि का अनुमान है। 

 

बादल छाने से सुबह से रही उमस 
बादल छाने की वजह से राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई हिस्सों में शुक्रवार को सुबह से ही उमस रही। बादल छाने से धूप नहीं निकली, लेकिन उमस का असर बना रहा। बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के कई हिस्सों में बारिश हुई, जिससे तापमान में गिरावट आई है। खंडवा में 138 मिलीमीटर, रतलाम में 77 मिलीमीटर, और मंडला में 110 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। 

 

इन जिलों में ज्यादा परिवर्तन नहीं 
पिछले 24 घंटों के दौरान भोपाल बैतूल, गुना, होशंगाबाद, इंदौर, खंडवा, पचमढ़ी, रायसेन, राजगढ़, छिंदवाड़ा, मंडला, नरसिंहपुर, उमरिया एवं उज्जैन के अधिकतम तापमानों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। वहीं रीवा, सीधी, टीकमगढ़ और ग्वालियर में बढ़ोत्तरी देखी गई। 

 

बीते 24 घंटे में मानसून की स्थिति 
पिछले 24 घंटे में दक्षिण-पश्चिम मानसून का पश्चिमी मध्य प्रदेश में सक्रिय एवं पूर्व मध्य प्रदेश में सामान्य रहा। पूर्वी मध्य प्रदेश के खंडवा में 14 सेंटीमीटर (138 मिमी) असाधारण रूप से भारी वर्षा दर्ज की गई। नरसिंहपुर के गोटेगांव, मंडला, रतलाम में जावरा 11 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। उज्जैन का खाचरोद, रतलाम का शैलाना, विदिशा का गंजबासोदा, अशोकनगर का ईशागढ़। यहां पर 9 सेमी, रायसेन के बेगमगंज, इंदौर के देपालपुर, रतलाम में 8 सेमी  रिकॉर्ड की गई। सागर का देवरी, झाबुआ का थांदला, रायसेन के सिलवानी, मंदसौर, धार के बदनावर, झाबुआ के पेटलवाद, उज्जैन के बढ़नगर में 7 सेमी भारी बारिश दर्ज की गई। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना