मध्यप्रदेश / 10वीं-12वीं की परीक्षा में अब 80 नंबर के पेपर, 27 में होंगे उत्तीर्ण



Board of Secondary Education Madhya Pradesh
X
Board of Secondary Education Madhya Pradesh

  • माध्यमिक शिक्षा मंडल हाईस्कूल व हायरसेकंडरी परीक्षा पाठ्यक्रम में सैद्धांतिक और आंतरिक मूल्यांकन के अंक विभाजन में किया संशोधन

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 05:33 PM IST

भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल ने 10वीं और 12वीं की वार्षिक परीक्षाओं में थ्योरी और प्रैक्टिकल के अंक विभाजन में संशोधन किया है।


इसके तहत अब विद्यार्थियों को 10वीं और 12वीं में क्रमशः 80 और 70 नंबर के पेपर दिए जाएंगे। शेष 20 और 30 नंबर के प्रैक्टिकल कराए जाएंगे। लिहाजा विद्यार्थियों को परीक्षा में पास होने के लिए सिर्फ 27 नंबर की जरूरत होगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सभी सरकारी हाई और हायरसेकंडरी स्कूलों के प्राचार्यों को इस नए संशोधन का माड्यूल भी दे दिया है। इसके तहत अब 10वीं-12वीं के छात्रों की पढ़ाई का बोझ हलका कर दिया गया है। बोर्ड परीक्षा में दसवीं के विद्यार्थियों को 100 की जगह 80 नंबर का पेपर दिया जाएगा। 20 नंबर प्रैक्टिकल के रहेंगे।

 

10वीं के हर विषय में प्रैक्टिकल: पिछले सत्र तक 10वीं कक्षा में साइंस के छात्रों की ही 25 नंबर की प्रैक्टिकल परीक्षा होती थी, लेकिन अब उन्हें हिंदी, अंग्रेजी, गणित, सोशल साइंस तथा विज्ञान सहित सभी विषयों के लिए प्रैक्टिकल परीक्षा देनी होगी। इसकी मार्किंग भी 25 से घटाकर 20 कर दी गई है। ऐसे में थ्योरी भी 75 से बढ़ाकर 80 नंबर की कर दी गई है।


20 नंबर देने का अधिकार स्कूलों के पास : इस नए शिक्षण सत्र में सबसे बड़ा बदलाव मार्किंग को लेकर किया गया है। इसके तहत विद्यार्थियों को 20 नंबर देने के अधिकार स्कूल प्रबंधन को दिए गए हैं। यह 20 नंबर छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क, उनकी नोटबुक के रखरखाव और प्रैक्टिकल के आधार पर दिए जाएंगे। इसके लिए मंडल जांचने के लिए स्कूलों से न तो छात्रों की कॉपियां मांगेगा और न ही उनकी जांच कराएगा। बल्कि स्कूल द्वारा भेजी गई अंकों की सूची ही फाइनल होगी। 15 नंबर प्रैक्टिकल और 5 नंबर को प्रावधान नोटबुक के लिए किया गया है। हालांकि स्कूलों को इसके अलग-अलग के बजाय एक साथ नंबरों की जानकारी मंडल को देनी होगी। प्राइवेट विद्यार्थियों के लिए यह सुविधा नहीं होगी। उन्हें 100 नंबर का पेपर ही दिया जाएगा।


12वीं में थ्योरी 70 और प्रैक्टिकल होंगे 30 नंबर के
अभी तक 12 दिन में केवल विज्ञान, कला और होम साइंस के विद्यार्थियों को 75 नंबर की थ्योरी और 25 नंबर के प्रैक्टिकल के दिए जाते थे। अब इस अनुपात को बदलकर थ्योरी 70 और प्रैक्टिकल के नंबर 30 कर दिए गए हैं। यह व्यवस्था रेगुलर और प्राइवेट दोनों तरह के विद्यार्थियों के लिए एक ही होगी।


कॉमर्स में भी प्रैक्टिकल : कॉमर्स विषय लेने वाले विद्यार्थियों को भी प्रैक्टिकल परीक्षा देनी होगी। इसके लिए छात्रों को 20 नंबर मिलेंगे। बाकी के 80 नंबर की थ्योरी रहेगी। हालांकि यह फायदा केवल रेगुलर छात्रों को ही मिलेगा। कॉमर्स विषय से प्राइवेट परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को 100 नंबर का ही पेपर हल करना होगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना