हादसा / दूसरी मंजिल की छत से नीचे गिरे नौ साल के इकलौते बेटे की मौत

Dainik Bhaskar

Mar 27, 2019, 11:34 AM IST



boy dropped from the roof
X
boy dropped from the roof
  • comment

  • माता-पिता से नजर बचाकर छत पर पहुंच गया था कान्हा
  • मातम में बदली खुशी..30 मार्च को था जन्मदिन

भोपाल। बेटे का जन्मदिन मनाने की तैयारियां कर रहे परिवार की खुशियां उस समय मातम में बदल गईं जब सोमवार रात उनका नाै साल का इकलौता बेटा दो मंजिल मकान की छत पर रखी पानी की टंकी से नीचे झांकते समय गिर गया। बच्चा 25 से 30 फीट ऊंचाई से बाजू वाले खाली प्लाट पर पड़ीं ईंटों के ऊपर गिरा था। जिससे उसके सिर में गंभीर चोट आई थी। चार दिन बाद 30 मार्च को बच्चे का जन्मदिन था। पुलिस का कहना है कि बच्चा मानसिक रूप से कमजोर था। उसका इलाज चल रहा था। पुलिस ने मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। 

 

जानकारी के मुताबिक ऋषि बंगलो निवासी हेमेंद्र शर्मा हमीदिया अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग में रेडियोग्राफर और उनकी पत्नी चित्रा शर्मा टीबी अस्पताल में पदस्थ हैं। सोमवार शाम साढ़े छह बजे पति-पत्नी अपने नौ साल के बेटे कान्हा और बेटी के साथ छत से कपड़े उठाकर लाए थे। चारों कपड़े लेकर पहली मंजिल के हॉल में आ गए और कपड़े जमा रहे थे। इसी बीच कान्हा माता-पिता की नजर से बचकर छत पर पहुंच गया। वह छत पर रखी पानी की टंकी के ऊपर चढ़ गया। जहां से नीचे झांकते समय असंतुलित होकर नीचे गिर गया। परिजनों को उसकी चीख सुनाई पड़ी तो देखने पहुंचे, जहां कान्हा लहूलुहान जमीन पर पड़ा था। परिजन तुरंत उसे लेकर पास के अस्पताल पहुंचे। वहां उसकी मौत हो गई। कान्हा ईदगाह हिल्स इलाके में संचालित स्पेशल चाइल्ड स्कूल में पढ़ता था। 


सिर में लगी चोट: मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कान्हा छत से जिस खाली प्लाॅट पर गिरा था, वहां नीचे ईंट-पत्थर रखे हुए थे। वह सिर के बल नीचे गिरा। इससे ईंट पर गिरने से उसे सिर में गंभीर चोट लगी थी। परिजनों ने उसका सिर तौलिए से ढंका और अस्पताल लेकर पहुंचे। जिस समय उसे अस्पताल लेकर पहुंचे उस वक्त सांसें चल रही थीं। अस्पताल में करीब डेढ़-दो घंटे तक चले इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वह इकलौता बेटा था। उससे बड़ी एक बहन है। प्री मैच्योर डिलीवरी होने के कारण कान्हा मानसिक रूप से कमजोर था। वह स्कूल भी कम ही जाता था। 


न जाने कैसे ऊपर चला गया: कान्हा के पिता हेमेंद्र शर्मा ने बताया कि बेटे का 30 मार्च को नाैवां जन्मदिन था। जन्मदिन मानने की तैयारियां चल रही थी। हम लोग बेटे को कभी अकेला नहीं छोड़ते थे। सोमवार को पता नहीं कैसे वह नजर बचाकर बाहर निकल गया। इस घटना के बाद से पत्नी और बेटी का रो- रोकर बुरा हाल है। उन्हें संभालना मुश्किल हो रहा है। 

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन