सनसनीखेज खुलासा / तेल कारोबारी बंसल ने नोटबंदी के समय नियति ग्रुप से किया था 400 करोड़ का लेन-देन



गोविंद बंसल गोविंद बंसल
विक्रम पगारिया विक्रम पगारिया
X
गोविंद बंसलगोविंद बंसल
विक्रम पगारियाविक्रम पगारिया

  • कालाधन कितना है, पता लगाने में जुटा आयकर विभाग
  • मारपीट मामले में बंसल गिरफ्तार

Oct 12, 2018, 03:42 AM IST

भोपाल /ग्वालियर.  मुरैना की तेल कारोबारी फर्म भारत वेज और सूरजभान ऑइल इंडस्ट्री ने नोटबंदी के दौरान पुणे के नियति ग्रुप के साथ 400 करोड़ रुपए का लेन-देन किया था। आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग ने मंगलवार-बुधवार को फर्म पर की गई सर्च में जब्त किए दस्तावेजों के आधार पर यह खुलासा किया है।

 

विभाग अब दस्तावेजों की जांच कर यह पता लगा रहा है कि इस ट्रांजेक्शन में कितनी रकम एक नंबर (दस्तावेजों में दिखाई गई) और कितनी दो नंबर (दस्तावेजों में नहीं दिखाई) की थी। जांच के बाद फर्म संचालकों से रिकवरी की जाएगी। इधर आयकर विभाग की टीम पर बुधवार को किए हमले के मामले में पुलिस ने सूरजभान ऑइल मिल के संचालक गोविंद बंसल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है। एफआईआर में गोविंद बंसल, विष्णु बंसल, सूरजभान बंसल और अन्य 40 लोग आरोपी हैं।

 

कोर्स डायरेक्टर ने लिखा, पगारिया जैसे काबिल अफसर उन्होंने नहीं देखा : पगारिया पर हमले को लेकर पूरे देश से प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं। 2010 के आईआरएस बैच के अधिकारी के कोर्स डायरेक्टर एन जयशंकर ने लिखा है कि पगारिया 64 वे बेच के ट्रेनी अधिकारी थे। लेकिन उन्होंने अपने पूरे जीवन में इतना दक्ष और काबिल अफसर नहीं देखा।

 

बंसल ने मुझे तमाचा मारा, भीड़ ने ज्वेलरी लूटी : डिप्टी कमिश्नर विक्रम पगारिया ने भास्कर को बताया कि मैं संजय बंसल से पुणे के नियति ग्रुप के साथ हुए 400 करोड़ रुपए के बैंक लेन-देन का हिसाब पूछ रहे थे। अचानक उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की। डॉक्टर बुलाए गए। उनका ब्लड प्रेशर बढ़ा था। उन्हें मुरैना स्थित सरकारी अस्पताल ले गए। वहां जांच में निकला की उनकी स्थिति ठीक है।

 

बाकायदा डॉक्टर ने इसकी रिपोर्ट दी है। फिर भी बंसल ग्वालियर जाकर अस्पताल में भर्ती हो गए। मैं अपने दो इंस्पेक्टर के साथ छापे में मिली ज्वेलरी और नकदी लेकर बैठा था। बंसल करीब 11 बजे 50 लोगों की भीड़ लेकर लौटे। सबसे पहले उन्होंने मुझे तमाचा मारा। इससे मेरा चश्मा टूट गया। भीड़ में शामिल अन्य लोगों ने हमसे ज्वेलरी और नकदी छीन ली। उसे वे घर में रखी अलमारियों में छिपाते रहे। इसके बाद और पुलिस आई। उसने सारे लोगों को घर से बाहर निकाला। बाद में हमने दोबारा सारी ज्वेलरी और नकदी बरामद कर ली।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना