Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News» 100 Temples Of Khajuraho Were Built 1100 Years Ago

इस खास वजह से बनाए गए थे खजुराहो के १०० मंदिर

इस खास वजह से बनाए गए थे खजुराहो के १०० मंदिर

Sumit Pandey | Last Modified - Dec 22, 2017, 01:19 PM IST


भोपाल। खजुराहो के 100 मंदिरों का निर्माण 1100 साल पहले किया गया था, इनके निर्माण की एक खास वजह थी दैवीय रूप में महिला की पूजा। ये बात मशहूर फिल्मकार शेखर कपूर ने अपने ट्वीटर हैंडल पर की है। उन्होंने अपनी थ्योरी में यहां के मंदिरों के बारे में एक नई व्याख्या की है। खजुराहो फिल्म फेस्टिवल में शिरकत करने पहुंचे शेखर कपूर यहां के मंदिर देखकर अभिभूत हो गए। उन्होंने खजुराहो में तीन दिन बिताए और मंदिर देखे, वहां की संस्कृति से परिचित हुए।

- उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा, " 1100 साल पहले इन मंदिरों का निर्माण दैवीय रूप में महिलाओं की पूजा करने के लिए किया गया था। पश्चिमी संस्कृति में जिस तरह से आदम और हव्वा के मिलन को सृष्टि के सृजन का मूल माना गया है। वैसे ही हिन्दू संस्कृति में माना जाता है कि शिव और पार्वती के मिलन से ही ब्रह्मांड की रचना हुई। स्त्री को रचनात्मकता का मूल माना जाता है।"

फिर भी दिल है हिंदुस्तानी
- शेखर कपूर रहते लंदन में हैं, लेकिन उनका दिल हिंदुस्तानी उन्होंने फिल्म फेस्टिवल के मंच से हर जगह हिंदी में अपनी बातें रखी। लंदन से भारत आने, मासूम, मिस्टर इंडिया और बैंडिट क्वीन से लेकर एलिजाबेथ फिल्म तक के सफर को बयां किया। उन्होंने भारत को लेकर अपने बड़े फिल्म प्रोजेक्ट पानी पर फिल्म बनाने के सपने को लेकर को भी लोगों से शेयर किया।

इसलिए देता हूं, विशेष सम्मान...
- उन्हें मासूम, मिस्टर इंडिया और बैंडिट क्वीन जैसी फिल्मों के कारण नहीं बल्कि इस कारण विशेष सम्मान का अधिकारी समझता हूं कि उन्होंने एलिजाबेथ और एलिजाबेथ: द गोल्डन ऐज जैसी फिल्में बनाई हैं। वो इसलिए कि हम अंग्रेजों को तो भारतीय केरेक्टर्स पर टीप करते हुए देखते हैं, मसलन रिचर्ड एटनबरो ने गांधी बनाई, लेकिन अपनी ओर से कोई प्रतिदान नहीं करते या यह भी कि हम शायद स्वयं को इस लायक नहीं समझते। पारिणामिक हुआ या और किसी चीज से। जो हो, पर एलिजाबेथ में जब शेखर कपूर ने उस समय के सत्ता संघर्ष में रानी को अपनी कथित वर्जिनिटी का एक मिथिकल लाभ लेने हेतु वर्जिन मेरी की इमेज में खुद को ढालते दिखाया, तो यह उनकी टीप, उनका स्टैंड पाइंट, उनका परिप्रेक्ष्य था। हम भी तो कभी दूसरों को जांचें। शेखर कपूर ने यह किया, इसी से वे मिस्टर इंडिया हुए। ( जैसा प्रमुख सचिव मनोज श्रीवास्तव FB पोस्ट में लिखा )

ऑस्कर के लिए नॉमिनेट हो चुके हैं शेखर

- शेखर कपूर क्वीन एलिजाबेथ के जीवन पर दो फिल्में बनाईं हैं। उन्हें इसके लिए ऑस्कर नॉमिनेशन मिला था। इसके अलावा उन्होंने मासूम, मिस्टर इंडिया, बैंडिट क्वीन, द फोर फीदर्स और अब वह ब्रूस ली के जीवन पर फिल्म बनाने जा रहे हैं। इसमें अनुपम खेर को भी लिया जा रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: shekhr kapoor ne khjuraaho ke mdiron par di nayi thyori, khaa- ye mahila pujaa ke kendr
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bhopal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×