--Advertisement--

भोपाल अपडेट

भोपाल अपडेट

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2017, 01:27 PM IST
मध्यप्रदेश के हरदा जिले का माम मध्यप्रदेश के हरदा जिले का माम

भोपाल। अक्षय कुमार की फिल्म 'टॉयलेट-एक प्रेम कथा' में जिस तरह जया शौचालय के लिए अपने पति, परिवार और पूरे गांव से विद्रोह कर मामला कोर्ट तक लेकर जाती है। ठीक ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के हरदा जिले में सामने आया है। जिसमें 17 लोगों के परिवार में नई नवेली बहू ने टॉयलेट के लिए विद्रोह कर दिया। घर वाले नहीं माने तो बहू अंजुम ने पति इरफान समेत ससुर व सास के खिलाफ थाने में रिपोर्ट लिखा दी।

-पुलिस की पॉजीटिव पहल पर अंजुम को टॉयलेट मिल गया और उसका परिवार भी टूटने से बच गया। जांच अधिकारी हेड कॉन्स्टेबल संजय ठाकुर ने बताया कि बहू अंजुम के परिवार को 20 दिन तक काउंसिलिंग करनी पड़ी तब वह टॉयलेट बनवाने के लिए तैयार हुए। इसके बाद हमने टॉयलेट निर्माण कराया।

-हरदा निवासी अंजुम पति इरफान से शादी के बाद जब ससुराल पहुंची तो घर में टॉयलेट की समस्या अपने पति इरफान और ससुर ईदा खान से की। उन्होंने अंजुम को एडजस्ट करने की बात कह कर मामले को टालने की कोशिश की, लेकिन अंजुम के शौचालय की मांग पर अड़े रहने के कारण विवाद बढ़ गया, यह इतना बढ़ा कि अंजुम ने ससुर व परिवार वालों के खिलाफ थाने में मारपीट की रिपोर्ट करा दी।

- शादी के बाद ससुराल आई बहू अंजुम को 17 सदस्यों के सयुंक्त परिवार में पहले दिन से टॉयलेट की परेशानी से गुजरना पड़ा। इतना बड़ा परिवार और टॉयलेट एक। काम ही नहीं चल रहा था। ऐसे में बहू और अन्य सदस्यों के बीच टॉयलेट का विवाद बढ़ता गया।

-अंजुम ने ससुराल वालों से अपने लिए अलग टॉयलेट की मांग की है। जिससे घर में विवाद बढ़ता गया। बात-बात पर घर में झगड़ा होने लगा। परेशान अंजुम ने हरदा थाने में शिकायत कर अपने पति और ससुरालवालों पर मारपीट का मामला दर्ज करा दिया।

- मामला एक परिवार का होने की वजह से पुलिस ने बारीकी से जांच की। जिसमें विवाद का कारण बहू द्वारा टॉयलेट की मांग करना निकला। पुलिस ने दोनों पक्षों को बैठाकर मामले का हल निकाला। अंजुम के पति-ससुर नए टॉयलेट के निर्माण के लिए राजी हुए, जिसमें पुलिस भी आर्थिक मदद देने को तैयार हो गई। फिलहाल टेम्पररी टॉयलेट बनाया गया है। जबकि पक्का टॉयलेट निर्माण चल रहा है।

पुलिस की वजह से उनका टूटने से बचा
-शौचालय निर्माण से खुश बहू अंजुम का कहना है कि अब घर में सब खुश हैं, क्योंकि पुलिस की वजह से उनका परिवार टूटने से बच गया। बहू अंजुम के खिलाफ भी थाने में शिकायत करने वाली अंजुम की सास नजमा भी अब खुश हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने मामले में समझाइश और सहायता दी जिसके बाद बहू को टॉयलेट बनाकर दिया है।

नए टॉयलेट से हल हो गई समस्या
इस मामले को सुलझाने और आर्थिक मदद करने वाले हरदा थाने के हेड कांस्टेबल संजय ठाकुर का कहना है कि जब यह मामला आया तब उन्होंने इसकी जांच-पड़ताल करना शुरू कर दी, और सामने आया कि, नया शौचालय बनाना ही समस्या का हल होगा। उन्होंने बताया कि 20 दिनों तक परिजनों के बीच सहमति बनाई गई और टॉयलेट निर्माण कराया गया।

X
मध्यप्रदेश के हरदा जिले का माममध्यप्रदेश के हरदा जिले का माम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..