--Advertisement--

चलती ट्रेन के एसी कोच में आर्मी जवान ने की विवाहिता के साथ छेड़छाड़

चलती ट्रेन के एसी कोच में आर्मी जवान ने की विवाहिता के साथ छेड़छाड़

Dainik Bhaskar

Feb 09, 2018, 01:02 PM IST
आरोपी को बचाने के लिए डाला गया आरोपी को बचाने के लिए डाला गया

भोपाल। नांदेड़ से अमृतसर जा रही सचखंड एक्सप्रेस के एसी कोच में एक 36 वर्षीय विवाहिता के साथ आर्मी के जवान ने छेड़छाड़ कर दी। घटना 7 फरवरी की रात 11:30 बजे इटारसी स्टेशन से ट्रेन चलने के दौरान की है। इसमें आरोपी आर्मीमैन ने महिला व उसके परिवार के साथ मारपीट भी की, बाद में उसे लोगों की मदद से पकड़ा गया।

-पीर साकिब शिकायत करने पर जीआरपी बीना थाना में मामला दर्ज किया गया। वही जीआरपी बीना की सूचना पर आर्मी जवान को एमसीयू ग्वालियर ने ट्रेन से उतारा गया, जहां से शुक्रवार को इटारसी जीआरपी थाने लाया गया है।

-शुक्रवार को आरोपी जवान को इटारसी जीआरपी थाने लाया गया। आरोपी राजेंद्र पिता बद्री पवार 32 वर्ष मोरधन जिला धुले महाराष्ट्र।
-आरोपी आर्मी जवान MD रेजीमेंट केयर ऑफ 56 एपीओ औरंगाबाद में आरक्षक के पद पर पदस्थ है।
-आर्मी जवान राजेंद्र सरकारी काम से औरंगाबाद से दिल्ली जा रहा था। ट्रेन नांदेड अमृतसर एक्सप्रेस के एसी बी-2 की बर्थ 16 पर आरोपी यात्रा कर रहा था।
-फरियदी पीड़िता अपने पति व अन्य परिजन के साथ मनमाड-लुधियाना की यात्रा कर रहे थे।

क्या हुआ था उस रात...

-मैं पत्नी व बहन-बहनोई के साथ मनमाड़ स्टेशन से सचखंड एक्सप्रेस के बी-2 कोच में सवार हुआ था। कोच में 16 नंबर बर्थ पर फौजी राजेंद्र बद्री पवार औरंगाबाद से यात्रा कर रहा था।

-हमने लाइट बंद कर अपनी बर्थ पर लेट गए थे। कोच में अंधेरा था, रात लगभग 11 बजे एक फौजी राजेंद्र ने बर्थ पर लेटी मेरी पत्नी के साथ छेड़छाड़ की।

-वह चीखकर उठी तब मैं, बहन-बहनोई व अन्य यात्री उठ गए। फौजी काफी नशे में था। उसने लड़खड़ाते हुए सॉरी बोलने की कोशिश की।

-रात लगभग 1 बजे वह सामान लेकर कोच से निकल गया। ट्रेन इटारसी पर रुकी तो लगा कि वह उतर गया है।

-मेरी झपकी लगी, तो फौजी आया और हमला कर दिया। आंख के ऊपर से बहुत खून निकला और टॉवेल खून से गीली हो गई।

-अन्य यात्रियों ने उसे पकड़ लिया। बीना पर जीआरपी आई और झांसी में डॉक्टर ने ट्रेन में टांके न लग पाने की बात करते हुए पट्टी कर दी। फौजी को ग्वालियर स्टेशन पर जीआरपी उतार कर अपने साथ ले गई। -जैसा कि पीड़ित यात्री सतीश अरोरा ने भास्कर को बताया।

कर्नल ने धमकाया...
-सचखंड एक्सप्रेस से लुधियाना जा रहे सतीश अरोरा की पत्नी से छेड़छाड़ और मारपीट के आरोपी फौजी को जीआरपी ने ग्वालियर में उतार लिया। इससे पूर्व बीना में यात्रियों की शिकायत पर जीआरपी ने एफआईआर दर्ज की थी।

-सतीश का कहना था कि जब ट्रेन में छेड़छाड़ और मारपीट की एफआईआर करा रहे थे तभी उनके मोबाइल पर राजस्थान से सेना के किसी कर्नल का फोन आया।

-कर्नल ने कहा कि आप फौजी के खिलाफ एफआईआर वापस ले लें। हम अपने स्तर पर फौजी के खिलाफ केस दर्ज कर लेंगेे। मैंने एफआईआर वापस लेने से मना कर दिया।

घटना के अगले दिन दर्ज हुआ मामला...

-रेल पुलिस को सूचना दी। लेकिन तब तक ट्रेन भोपाल से निकल चुकी थी। दूसरे दिन 8 फरवरी कि शाम 4:00 बजे बीना जीआरपी रेल पुलिस ने शून्य पर 323 और 354 का कायम

की। घटनास्थल इटारसी का होने से डायरी इटारसी भेजी।

X
आरोपी को बचाने के लिए डाला गया आरोपी को बचाने के लिए डाला गया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..