--Advertisement--

पुराने संस्कारों से युक्त बनाई जाये स्मार्ट सिटी: शिवराज

पुराने संस्कारों से युक्त बनाई जाये स्मार्ट सिटी: शिवराज

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 03:23 PM IST
सीएम शिवराज ने स्मार्ट सिटी प् सीएम शिवराज ने स्मार्ट सिटी प्

भोपाल। सीएम शिवराज ने कहा कि शहर को स्मार्ट बनाएं, लेकिन उसमें संस्कार भी होने चाहिए। हमारा यही लक्ष्य होना चाहिए कि जो भोपाल को स्मार्ट सिटी बनाया जाएगा, उसमें पुराने संस्कार दिखाई देंगे। सीएम गुरुवार को राजधानी में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य के भूमिपूजन के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि यह काम सरकार अकेले नहीं कर सकती, इसे हम सबको मिलकर करना होगा। इसके साथ ही 500 करोड़ के निर्माण कार्यों की शुरुआत हुई। इसमें सरकारियों कर्मचारियों के लिए आवास और कंट्रोल एवं कमांडिंग सिस्टम बनाया जाएगा। भूमिपूजन पलास रेजीडेंसी होटल के पड़ोस में किया गया।

हरी भरी होगी स्मार्ट सिटी

-जब स्मार्ट सिटी बनाने के लिए योजना बनाई गयी, तब कई लोगों ने इसका विरोध किया कि हरियाली से भरा पूरा शहर खत्म करने का काम किया जा रहा है, लेकिन हमने इसका भी समाधान निकाल लिया और भोपाल को हरा भरा बनाए रखने के लिए स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले निर्माण कार्य में केवल बीस फीसदी हिस्से में निर्माण कार्य होंगे, बाकी हिस्से को ग्रीन बेल्ट बनाया जाएगा।

भोपाल अद्भुत शहर...

-भोपाल को एक अद्भुत शहर बताते हुए चौहान ने कहा कि चुनावों के समय हमने प्रदेश के विकास के लिए जो सपने देखे थे, वह आज पूरे होते दिख रहे हैं।

-उन्होंने कहाकि भोपाल को झुग्गी मुक्त बनाया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं है कि सरकार गरीबों को उनके घर से बेदखल कर रही है।
-भोपाल को स्वच्छ बनाने का संकल्प दिलाते हुए उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर स्वच्छ बनाएं। ऐसा शहर, जो दूसरे शहरों के लिए प्रेरणा बने।

-उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाए गए स्वच्छ भारत मिशन के तहत भोपाल में भी अभियान चलाया गया और भोपाल अन्य शहरों की तुलना में दूसरे स्थान पर रहा।

इसलिए देर से शुरू हुआ प्रोजेक्ट
-स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए जगह का चुनाव देरी के कारण बना। पहले शिवाजी नगर को स्मार्ट सिटी एरिया बनाना था, लेकिन यहां पर विरोध होने के कारण टीटीनगर एरिया को स्मार्ट सिटी के दायरे में लाया गया। इसमें रंगमहल से लेकर हजेला हॉस्पिटल तक, जवाहर चौक और मॉडल स्कूल तक शामिल हैं।

ज्यादा काम पीपीपी मॉडल में
-भोपाल में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में करीब 3400 करोड़ रुपए खर्च किया जाएगा। इसमें से केंद्र सरकार 200 करोड़ रुपए भोपाल के लिए जारी कर चुकी है। बाकी की धनराशि राज्य सरकार पीपीपी मॉडल से जुटाएगी।
-स्मार्ट सिटी का कार्य दो तरह से चल रहा है। पहला, स्मार्ट सिटी, जो एरिया बेस्ड डेवलपमेंट होगा।
- दूसरा पैन सिटी को स्मार्ट बनाने का काम, जिसके तरह सड़कें और स्मार्ट पोल लगाने जैसे कार्य शामिल हैं।

ये होगा स्मार्ट सिटी में खास...
-मेट्रो ट्रेन भी स्मार्ट सिटी का हिस्सा है
-नॉर्थ टीटी नगर का एरिया बेस्ड डेवलपमेंट
-ग्लोबल इंफॉर्मेशन सिस्टम पर आधारित वन मेप एप
-पब्लिक बाइक शेयरिंग, स्मार्ट पोल लाइटिंग, कमांड कंट्रोल सेंटर शामिल
-जवाहर चौक से रोशनपुरा मार्ग को अंडरग्राउंड केबलिंग से लैस करेंगे
-भोपाल प्लस एप

X
सीएम शिवराज ने स्मार्ट सिटी प्सीएम शिवराज ने स्मार्ट सिटी प्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..