--Advertisement--

बेटी को लेकर भागने वाले युवक की छोटी बहन नैना को युवती के पिता और मामा ने जलाया था जिंदा

बेटी को लेकर भागने वाले युवक की छोटी बहन नैना को युवती के पिता और मामा ने जलाया था जिंदा

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 06:52 PM IST
मध्य प्रदेश के भोपाल का मामला- मध्य प्रदेश के भोपाल का मामला-

भोपाल। निशातपुरा इलाके में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। मोहल्ले के लड़के के साथ बेटी के भागने से नाराज पिता ने अपने साले के साथ मिलकर युवक की छोटी बहन नैना को रविवार रात जिंदा जला दिया था। गंभीर झुलसी युवती ने यह बयान मरने से पहले पुलिस और मजिस्ट्रेट के सामने दिए हैं। क्या है पूरा मामला...

- पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या की धारा बढ़ा दी हैं। इलाज के दौरान युवती की मौत से नाराज परिजनों ने पुलिस पर भी प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं।

- हाउसिंग बोर्ड लाल क्वार्टर, निशातपुरा निवासी आशु चौरसिया प्राइवेट काम करते हैं।

- गत 1 जनवरी को उनका 21 वर्षीय छोटा भाई दीपक उर्फ कल्लू चौरसिया पड़ोस में रहने वाली युवती को भगाकर ले गया था।

-युवती के परिजनों ने निशातपुरा थाने में दीपक के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। -आशु ने आरोप लगाया कि उसके बाद से लड़की के पिता राधामोहन अग्निहोत्री निशातपुरा पुलिस के साथ घर आकर धमका रहे थे।

-रविवार रात भी वे घर पर आए। उस समय उनकी छोटी बहन 17 वर्षीय नैना घर पर अकेली थी। -हमें बताया गया था कि नैना ने खुद को आग लगाई थी, लेकिन उसे राधामोहन और उसके साले अमित तिवारी ने जलाया था।

-हमें उससे मिलने भी नहीं दिया जा रहा था। पुलिस वाले लगातार दबाव बना रहे थे।

पानी के लिए गिड़गिड़ाती रही लड़की

-नैना की मौत से पहले बनाए गए वीडियो में नैना दर्द से चीखती हुई नजर आ रही है। वीडियो बनाने वाले शख्स से नैना गिड़गिड़ाते हुए कहती है प्लीज एक गिलास पानी दे दो। सामने वाला युवक उसे कुछ देर ठहरने को कहता है, तो वह कहती है कि जब मैं मर जाऊंगी तब पानी पिलाओगे क्या?

तीन लोग आए और आग लगा दी

-नैना ने मरने के पहले मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान दर्ज कराएं। इसमें उसने कहा कि वह शनिवार रात करीब 8 बजे घर पर अकेली थी।

-इसी दौरान राधामोहन अपने साले अमित तिवारी और एक अन्य के साथ घर पर पहुंचे।

-दरवाजा खटखटाने पर जैसे ही मैंने दरवाजा खोला, तो इन्होंने मुझ पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी।

-आग लगाने के बाद तीनों भाग गए। उसके बाद कुछ याद नहीं। इलाज के दौरान देर रात नैना की मौत हो गई।

-पुलिस ने मृत्यु पूर्व बयान के आधार पर राधामोहन और अमित तिवारी को गिरफ्तार कर लिया।

-आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस युवती को किसी भी तरह से परेशान नहीं कर रही थी। मामला नियमानुसार ही दर्ज किया गया था। राधामोहन की बेटी नाबालिग है। उनकी शिकायत पर दीपक के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज है। मामला दर्ज कराने के बाद राधामोहन ही दीपक के घर जाकर उन पर दबाव बना रहे थे। इसमें पुलिस की कोई भूमिका नहीं है। राधामोहन और अमित को गिरफ्तार कर लिया गया है। -चैन सिंह रघुवंशी, टीआई निशातपुरा
X
मध्य प्रदेश के भोपाल का मामला- मध्य प्रदेश के भोपाल का मामला-
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..