Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News» Constable Committed Suicide Due To Childbirth

बच्चे न होने के गम में शराबी हो गया था ये कान्स्टेबल, फिर ले लिया ये स्टेप

बच्चे न होने के गम में शराबी हो गया था ये कान्स्टेबल, फिर ले लिया ये स्टेप

Sumit Pandey | Last Modified - Dec 29, 2017, 05:19 PM IST

भोपाल।मध्य प्रदेश के सागर जिले के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में पदस्थ एक सिपाही ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि शादी के आठ साल बाद भी उसे बच्चे नहीं हो रहे थे, इस वजह से वह काफी टेंशन में था। इसी गम में वह शराब पीने लगा था। घटना की सूचना जैसे ही पुलिस महकमे में पहुंची। हड़कंप मच गया। आईजी, एसपी और तमाम पुलिस अधिकारी पुलिस लाइंस में कॉन्स्टेबल के क्वार्टर गए और मामला का जायजा लिया। इसके बाद डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। कॉन्स्टेबल के पास से सुसाइड भी मिला है।

बच्चे न होने के गम में रोता था

कॉन्स्टेबल के परिजन ने बताया कि बच्चे न होने के गम में अक्सर हुकुमचंद रोता था। शादी को आठ साल हो गए थे। मैं उसे समझाता था कि बड़े भईयों के बच्चे हैं, ये अपने ही हैं। वह सुनता नहीं था। इसी गम में शराब पीने लगा था। बहुत समझाने की कोशिश की, लेकिन सुना नहीं है। बच्चा न होने का गम हर एक को होता है।


-कुछ दिन पहले ही अशोकनगर में एक एएसआई ने फांसी लगा ली थी। उसके बाद गुना में एक एएसआई लेवल का पुलिस वाला आत्महत्या करने जा रहा है, जिसे बड़ी मुश्किलों के बाद पुलिस बचा पाई थी। ये एक ही हफ्ते में तीसरा मामला है। गुना को छोड़कर दो मामलों में पुलिस कर्मियों ने जान गंवा दी है।

क्वार्टर में लगाई फांसी

-कान्स्टेबल हुकुमचंद बंसल पुलिस लाइंस में क्वार्टर में रहता था। उसने पारिवारिक कारणों से शुक्रवार सुबह अपने क्वार्टर में ही फांसी लगा ली। हुकुमचंद बंसल आठ साल पहले पुलिस में भर्ती हुआ था। कॉन्स्टेबल की फैमिली का कहना है कि उसे औलाद ना होने का गम था और शराब भी पीने लगा था। वहीं पुलिस ने पंचनामा बनाकर कार्रवाई शुरू कर दी है। कार्यवाही शव का पोस्टमार्टम कराया है। आरक्षक एक सुसाइड नोट भी छोड़ गया है जिसमे उसने पारिवारिक कारणों के चलते आत्महत्या करने की बात लिखी है पुलिस ने आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है ।

डीजीपी ने मांगी सभी जिलों से रिपोर्ट
-फांसी के लगातार आ रहे फांसी या आत्महत्या के मामलों को देखते हुए डीजीपी ने सभी जिले के एसपी से रिपोर्ट मांगी है। इसमें सूची बनाने को कहा गया कि किस पुलिस वाले को मानसिक बीमारी है और ऐसी कौन सी स्थितियां हैं, जिससे वह आत्महत्या करने को प्रेरित हो रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhopal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×