• Home
  • Mp
  • Bhopal
  • Father rebuked, jumped with boyfriend in front of the train
--Advertisement--

पिता फोन पर बात करने से रोका तो उसने प्रेमी के साथ खत्म कर लिया सब कुछ

पिता फोन पर बात करने से रोका तो उसने प्रेमी के साथ खत्म कर लिया सब कुछ

Danik Bhaskar | Jan 05, 2018, 04:11 PM IST
जबलपुर में प्रेमी जोड़े ने ट्र जबलपुर में प्रेमी जोड़े ने ट्र

भोपाल। जबलपुर में तीन पुलिया शोभापुर ब्रिज के पास शुक्रवार अल सुबह 4 बजे एक प्रेमी जोड़े ने ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। प्रेमी जोड़े की डेड बॉडी एक-दूसरे से लिपटी मिली थीं। इस मामले की जानकारी मिलने पर क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

-जानकारी के अनुसार, लड़की (17) और लडका (18) के बीच अफेयर था, लेकिन परिवार उनके प्यार के विरोध में थे। शाम को लड़की के पिता ने इसी बात पर बेटी को डांटा था।

पिता ने फोन छीनकर तोड़ दिया था

-लड़की माता गुजरी कॉलेज में प्रथम वर्ष की छात्रा थी, वहीं लड़का आईटीआई का छात्र था। लड़की के पिता ने 2 दिन पहले उसे मोबाइल पर लड़के से बात करते हुए पकड़ लिया था, जिसके पिता ने मोबाइल छीनकर तोड़ दिया। इसके बाद एक बार फिर गुरुवार शाम को उसको डांटा जिसके बाद दोनों ने आत्महत्या का कदम उठा लिया। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

एक साथ दोनों ने कर लिया सब कुछ खत्म

शुक्रवार को सुबह-सुबह उस समय सनसनी फैल गई जब रेलवे ट्रैक पर लड़की व लड़के के शव मिले। एक लड़की और उसके बाजू में ही एक लड़के का शव पड़ा था। इसमें लड़की की उम्र 17 और लड़के की 18 साल बताई जा रही है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पता चला कि पटरियों पर जिस लड़के की लाश पड़ी है वह पुराना कंचनपुर का रहने वाला है। उसी के बाजू में मिली लाश भी कंचनपुर की इंद्रप्रस्थ कॉलोनी की एक लड़की की थी। बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह दोनों घर से निकले और ट्रेन से कटकर जान दे दी।

बेटी को रात पिता ने डांटा था
-लड़के के पिता ने बताया कि उन्हें इन दोनों के प्रेम संबंधों की जरा भी जानकारी नहीं थी। बेटे ने कभी भी इस बात का जिक्र ही नहीं किया। इधर लड़की के पिता ने बताया कि कल रात उन्होंने अपनी बेटी को इस बात के लिए डांटा था और इन सब बातों को छोड़ कर पढ़ाई में मन लगाने की बात कही थी। इससे नाराज होकर ही यह कदम उठा लिया।
सूरज सुबह जाता था दौड़ने
-बताया जा रहा है कि लड़का रोज सुबह दौड़ने जाता था, इसलिए शुक्रवार सुबह जब वह घर से निकला तो परिवार वाले समझे की वह दौड़ने जा रहा है। उधर, लड़की घर से कब निकल गई रात में परिवार वालों को पता ही नहीं चला।