--Advertisement--

शहर के सबसे बड़े कपड़ा मार्केट में लगी आग, हुआ १०० करोड़ का नुकसान

शहर के सबसे बड़े कपड़ा मार्केट में लगी आग, हुआ १०० करोड़ का नुकसान

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2017, 07:24 PM IST
स्टेडियम की दीवार पर चढ़कर कॉम स्टेडियम की दीवार पर चढ़कर कॉम

भोपाल। बैरागढ़ के हिरदाराम शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में लगी भीषण आग में करोड़ों का माल जलकर खाक हो गया है। यह शहर का सबसे बड़ा कपड़ा मार्केट है, जिसे चंद घंटों की आग ने पूरी तरह से तबाह कर दिया। आग पर काबू पाने के लिए भोपाल के अलावा आसपास से भी दमकलों और थ्री-ईएमई सेंटर के जवानों को बुलाया गया था। आग का कारण शार्ट सर्किट होना बताया गया है। व्यापारियों का आरोप है कि दमकलों के देरी से आने के कारण आग भयावह हुई। व्यापारी घटना में 75 से 100 करोड़ की क्षति की बात कह रहे हैं।


-रविवार सुबह करीब 11 बजे मेन रोड पर सिविल अस्पताल के सामने हिरदाराम कॉम्प्लेक्स से धुंआ उठते देख अफरा-तफरी मच गई। कुछ ही देर 100 से अधिक दुकानें आग की चपेट में आ गई। ज्यादातर दुकानें कपड़े की होने से आग फैलने में देर न लगी। घटना उस वक्त हुई जब बाजार खुल रहा था, कुछ ही देर में बाजार के कॉम्प्लेक्स के आसपास हजारों लोग जमा हो गए। फायर ब्रिगेड आने में देरी होते देख व्यापारियों ने खुद ही आग बुझाने की कोशिश शुरू कर दी थी, लेकिन उनके प्रयास नाकाफी थे। शुरूआती दौर में एक दमकल पहुंची। इसके बाद एक के बाद एक दमकलों के आने का सिलसिला बना रहा।

अंत में बुलानी पड़ी सेना
आग पर काबू पाने के लिए भोपाल, बैरागढ़, गांधीनगर, एयरपोर्ट, आष्टा और सीहोर से दमकलों को बुलाया गया था। करीब पांच दर्जन से अधिक दमकलों ने घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग इतनी भयावह थी कि काबू करने के लिए थ्री ईएमई सेंटर के जवानों को भी बुलाना पड़ा।

पुलिस के बल प्रयोग करना पड़ा
घटना के दौरान आग को बुझाना जहां दमकल कर्मियों के लिए चुनौती बना हुआ था, वहीं जमा भीड़ को हटाना पुलिस के लिए कई बार पुलिस को भीड़ को हटाने के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

बचाई जा सकती थी आधी दुकानें
घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे सांसद आलोक संजर और महापौर आलोक शर्मा के सामने व्यापारियों ने रो-रो कर अपनी बात कही। विधायक प्रतिनिधि और व्यापारी राम बंसल ने महापौर से कहा एयरपोर्ट ने उपराष्ट्रपति के होने के कारण ढाई बजे तक दमकल नहीं भेजी। वीआईपी रोड पर वीआईपी ट्रैफिक होने से दमकलों को रोका गया। यदि यह हालात नहीं होते तो आधे कॉम्प्लेक्स को बचाया जा सकता था।

जांच हो रही है
कॉम्प्लेक्स में आग लगने का कारण प्रारंभिक तौर पर शार्ट सर्किट होना है, हालांकि अभी जांच की जा रही थी। आग में लाखों को नुकसान हुआ है। आग पर तत्परता से काबू पाया गया है। सुदामा पी खाड़े, कलेक्टर भोपाल।

लगभग 30 साल पुराना है कॉम्प्लेक्स
कॉम्प्लेक्स के निर्माण को डॉ धर्मेंद्र के भोपाल विकास प्राधिकरण के अध्यक्षीय कार्यकाल (वर्ष 1992) में मंजूरी मिली थी। लेकिन, निर्माण पीसी शर्मा के अध्यक्षीय कार्यकाल 1997 में पूरा हुआ था। व्यापारियों का कहना है अब कॉम्प्लेक्स को नए सिरे बनाने की जरूरत होगी। कॉम्प्लेक्स में करीब 150 दुकानें हैं, जिनमें 100 दुकानें जल गई हैं।

X
स्टेडियम की दीवार पर चढ़कर कॉमस्टेडियम की दीवार पर चढ़कर कॉम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..