Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Heat Rains In Betul, Possibility Of Heavy Loss To Crops

10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन

राजधानी भोपाल समेत बैतूल, सतना, छिंदवाड़ा और प्रदेश के अन्य हिस्सों में ओलावृष्टि।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 12, 2018, 10:23 AM IST

    • भोपाल समेत प्रदेश के कई जिलों में तेज आंधी के साथ ओलावृष्टि हुई।

      भोपाल।प्रदेश में लगातार बदल रहे मौसम के चलते रविवार दोपहर 1.45 बजे तेज हवाओं के साथ ओलावृष्टि हुई। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि इस बारिश से फसलों को भारी नुकसान होगा। 15-20 मिनट तक हुई बारिश और ओलावृष्टि से राजधानी भोपाल में सफेदी की चादर बिछ गई। ऐसा ही हाल, बैतूल, छिंदवाड़ा और सतना जिलों समेत प्रदेश के कई हिस्सों में ओलावृष्टि हुई है। तेज आंधी के साथ हुई ओलावृष्टि से खिड़की और दरवाजों के कांच तक टूट गए। घरों में ओले की परतें जमा हो गईं।

      -हालांकि 15 मिनट बाद ही धूप खिल गई। मौसम का मिजाज दो-तीन दिनों से बदला हुआ है। अचानक बादल छाए और ओलावृष्टि शुरू हो गई।

      बैतूल, सतना, छिंदवाड़ा में भी ओलावृष्टि

      -रविवार को भोपाल के साथ ही बैतूल, सतना, छिंदवाड़ा में भी ओलावृष्टि हुई। बैतूल जिले के चिचोली इलाके में सुबह 9 बजे 5 मिनट तक ओलावृष्टि हुई। ये ओलावृष्टि फसलो को नुकसान पहुंचा सकती है।

      -अचानक बादलों के आने के बाद तेज हवाओं के साथ ओले गिरने लगे। थोड़ी ही देर में चिचौली में जमीन पर सफेदी की चादर बिछ गई और लोग घर से बाहर निकलकर देखने लगे। कुछ बच्चे ओले हाथ में लेकर खेलने लगे। हालांकि मौसम बदलने से ठंडक फिर से बढ़ गई है।

      पांच मिनट में जमीन हो गई सफेद
      -चिचौली में पांच मिनिट तक हुई ओलावृष्टि। इससे जमीन सफेद पड़ गई है। ओला देखने के लिए बच्चे और लोग बाहर निकल आए और हाथ में खेलने लगे। हालांकि बाद में फिर से धूप खिल गई है। सुबह चिचोली और आसपास बारिस के साथ ओले गिरने से मौसम में ठंडक घुली है। बैतूल बाजार, आरुल, मिलानपुर ,सोहागपुर, और आसपास के क्षेत्रों में भी बारिस की संभावना बनी हुई है।

      फसलों को होगा नुकसान
      -ओलावृष्टि के चलते गेहू, चना, मटर, मसूर की फसलों को नुकसान होने के साथ साथ आम, आचार, महुआ सहित जगंल मे होने वाली उपज को नुकसान पहुंचा है।
      -बैतूल बाजार में आज सुबह से ही आसमान में काले बादलों ने डेरा जमाया हुआ है।
      -मौसम के खराब होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंचने लगी है खासतौर पर गन्ना किसान परेशान हो गया है।
      -किसानों के गुड़ घाने चल रहे है साथ ही ग्रामीण इलाकों में लगी चने की फसल जो कि कटने को तैयार है यदि ऐसेमें बारिश हुई या ओले गिरे तो किसानों पर दोहरी मार पड़ेगी।

    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      ओलावृष्टि से घरों में खिड़की के कांच तक टूट गए।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      लोग घरों से बाहर आ गए।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      तेज आंधी के साथ ओलावृष्टि हुई।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      बैतूल में 5 मिनट में ओलावृष्टि हुई है, फसल को भारी नुकसान होने की संभावना जताई गई है। ओला की बारिश के बाद बच्चे हाथ में ओले लेकर खेलने लगे।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      सफेदी की चादर बिछ गई।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      बारिश इतनी तेज थी कि थोड़ी ही देर में ओले जमा हो गए।
    • 10 मिनट तड़-तड गिरते रहे ओले, बर्फ जैसी सफेद हो गई जमीन
      +7और स्लाइड देखें
      बारिश इतनी तेज थी कि थोड़ी ही देर में ओले जमा हो गए।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Heat Rains In Betul, Possibility Of Heavy Loss To Crops
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×