भोपाल

--Advertisement--

बाहर सो रहा था पति, कमरे में लवर के साथ ये कर रही थी पत्नी, ऐसे सुलझी मिस्ट्री

बाहर सो रहा था पति, कमरे में लवर के साथ ये कर रही थी पत्नी, ऐसे सुलझी मिस्ट्री

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2017, 07:21 PM IST
घटना स्थल, जहां पर देवीदास को म घटना स्थल, जहां पर देवीदास को म

भोपाल। बैतूल जिले में पुलिस ने एक मर्डर मिस्ट्री को सुलझा दिया है। शाहपुर ब्लॉक के सालीमेठ गांव में 31 नवंबर की रात को मृतक देवी प्रसाद घर के पड़ोस में मुर्गी फार्म में सो रहा था। जबकि उसकी पत्नी घर के अंदर कमरे में अपने के प्रेमी के साथ थी। रात को 12 बजे पति की नींद टूटी तो पत्नी को प्रेमी के साथ देखकर पति गाली-गलौज करने लगा और मारने को दौड़ा।


- बौखलाए पति देवी प्रसाद को शोर मचाते देख उसकी पत्नी सुंदो बाई और प्रेमी अशोक मर्सकोले भी तैश में आ गए। उन्होंने देवीदास का रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद डेड बॉडी को फेंक दिया। पुलिस को एक दिसंबर को डेडबॉडी मिली थी, इसके बाद से ही पुलिस इस मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने में जुटी हुई थी। पुलिस ने गुरुवार को इस मर्डर मिस्ट्री का खुलासा किया है।

आधार कार्ड से ऐसे सुलझा मर्डर
बैतूल के एसपी डीआर तेनिवार ने बताया कि शाहपुर पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो वहां आरोपी का आधार कार्ड और रस्सी मिली थी। इसे आधार बनाकर हमने जांच शुरू की। पुलिस ने दबाव बनाया तो दोनों आरोपियों सुंदो बाई और उसके प्रेमी अशोक मर्सकोले ने जुर्म कबूल कर लिया।


क्या हुआ था उस रात को
- मामले का खुलासा करते हुए एसपी डीआर तेनिवार ने बताया कि मृतक का शव मिलने के बाद पीएम रिपोर्ट से साफ हो गया था कि मृतक का गला घोंट कर हत्या की गई है। एसपी ने कहा कि मृतक देवी प्रसाद बोरासी की पत्नी सुंदो बाई के गांव के ही अशोक मर्सकोले से अवैध संबंध थे। घटना 30 नवंबर की रात करीब 11 बजे देवीप्रसाद उसके घर के पास के ही मुर्गी फार्म में सोया हुआ था। घर मे सुंदो बाई अपने बच्चों के साथ सो रही थी।

- रात 11 बजे से 12 बजे के बीच आरोपी अशोक मर्सकोले मृतक के घर पहुंचा। इसी बीच मृतक देवीप्रसाद मुर्गी फार्म से उठकर घर पहुंचा तो उसने दोनों को एक बिस्तर पर देख लिया। देवीप्रसाद की आरोपी अशोक और उसकी पत्नी से गाली गलौच करने लगा तो दोनों आरोपियों ने गुस्से में आकर देवीप्रसाद को पकड़कर गले मे रस्सी बांधकर उसका गला घोंटकर मार डाला।

X
घटना स्थल, जहां पर देवीदास को मघटना स्थल, जहां पर देवीदास को म
Click to listen..