Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Ice In The Raisen District First Time In This Winter

MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS

रायसेन जिले में सर्दी के इस सीजन में पहली बार ओस की बूंदें जम गईं।

Dev Shakya | Last Modified - Jan 09, 2018, 03:01 PM IST

  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    हवाओं के रुख बदलने से पाला पड़ा और पौधों में ओस की बूंदें जम गईं।

    भोपाल।रायसेन जिले में सर्दी के सर्द के इस सीजन में पहली बार बर्फ जमी। यहां पर सब्जी के खेतों और बगीचे में पौधे पर पानी की बूंदें जम गई। असल में, हवा की दिशा बदलने से मौसम की स्थिति भी बदल गई। पूर्व से चलने वाली हवा के चलते तापमान में बढ़ोतरी हो रही थी, लेकिन जैसे ही हवा उत्तर-पूर्व से चलना शुरू हुई तो तापमान में गिरावट शुरू हो गई। रविवार को न्यूनतम तापमान एक डिग्री घटकर 6.5 डिग्री दर्ज हुआ है। सोमवार को तापमान 4.6 डिग्री दर्ज किया गया है। मौसम विभाग का कहना है कि ग्वालियर, रीवा और सागर रीजन में आने वाले दिनों में पाला पड़ने की संभावना है।

    -इससे कई जगह खेतों की फसलों पर बर्फ जम गई। बर्फ जमने से किसान पाला पड़ने की आशंका जता रहे हैं।

    -किसानों का कहना है कि फसलों पर एक बार बर्फ जमने के बाद पाले का असर एक सप्ताह बाद दिखाई देता है।

    -कृषि विभाग के मुताबिक जिले में इस बार 1 लाख 80 हजार हेक्टेयर रकबे में गेहूं और एक लाख 40 हजार रुपए हेक्टेयर रकबे में चने की बोवनी की गई है।

    -इसी के साथ मसूर, तेवड़ा की भी बोवनी की गई है। तापमान में आई गिरावट से सब्जियों के साथ ही इन फसलों पर भी पाले का संकट बना हुआ है।

    -रबी की फसल सहित सब्जियों की फसलों को पाले से बचाने के लिए 1 फीसदी सल्फ्यूरिक अम्ल का छिड़काव किसानों को कराना चाहिए।

    बगीचे की हर फसल पर जमी बर्फ

    शहर के वार्ड नंबर एक स्थित नरापुरा मोहल्ले के पास राकेश कुशवाह ने एक बड़ा सब्जी का बागीचा लगा रखा है। इस बगीचे में बैंगन,धनिया,मूली सहित अन्य सब्जियां लगी हुई हैं। इनमें सभी सब्जियों पर बर्फ जम गई और बैंगन की फसल तो पाले से खराब भी होना शुरू हो गई। पौधों के पत्ते सूखने लगे हैं।

    पाला पड़ गया है

    रायसेन में ओस की बूंदों का जमने की घटना पहली बार है। इसे पाला पड़ना कहते हैं। शनिवार को 7.5 था, जबकि रविवार को 6.5 डिग्री हो गया। सोमवार का न्यूनतम तापमान 4.6 दर्ज किया गया है। ये गिरावट अभी आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। रायसेन में ओस की बूंदें जमना, पाला पड़ने का संकेत है। इससे रवि की फसल को नुकसान भी हो सकता है। इसके साथ ही रीवा, सागर, ग्वालियर क्षेत्र में पाला पड़ेगा। - एसके नायक, वरिष्ठ मौसम विज्ञानी, भोपाल केंद्र

  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    एमपी के रायसेन जिले में तापमान में एकाएक गिरावट दर्ज की गई है।
  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    खेतों, बगीचों में ओस जम गई।
  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    ऐसा कई जगह हुआ है, जहां पर ओस की बूंदें जम गईं हैं।
  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    इस मौसम में पहली बार है जब ओस जमी है।
  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    पत्तों में जमी ओस।
  • MP में पहली बार यहां जमी ओस, पौधों में इस तरह से जम गईं बूंदें, देखें PHOTOS
    +6और स्लाइड देखें
    किसानों को डर है कहीं पाला न पड़ जाए।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Ice In The Raisen District First Time In This Winter
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×