--Advertisement--

एक्जाम देने जा रहे हैं तो हो जाएं अलर्ट, अब इस टेस्ट से गुजरना होगा

एक्जाम देने जा रहे हैं तो हो जाएं अलर्ट, अब इस टेस्ट से गुजरना होगा

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 07:13 PM IST

भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड आगामी प्रवेश व भर्ती परीक्षाओं में परीक्षार्थियों की पहचान बायोमेट्रिक मशीन के साथ आई स्कैनर से भी करेगा। पटवारी भर्ती परीक्षा में बायोमेट्रिक मशीन से पहचान होने में लगातार आ रही तकनीकी समस्याओं को देखते हुए बोर्ड ने यह निर्णय लिया है।

- अभी बोर्ड केवल किसी एक तकनीक का ही उपयोग परीक्षार्थियों की पहचान के लिए करता है। आई स्कैनर से केवल उन्हीं परीक्षार्थियों की पहचान वेरीफाई की जाती हैं जिन्हें स्किन की समस्या है या जो दिव्यांग (हाथों से) की श्रेणी में आते हैं। बाकियों की पहचान बायोमेट्रिक मशीन से की जाती है।

- बोर्ड के प्रवक्ता आलोक वर्मा के अनुसार आधार सत्यापन में लगातार आ रही समस्या को देखते हुए आगामी परीक्षाओं से बोर्ड बायोमेट्रिक मशीन के साथ ही आई स्कैनर से भी वेरीफिकेशन करने की तैयारी कर रहा है।

- इसका फायदा यह होगा कि जिन परीक्षार्थियों के आधार का मिलान बायोमेट्रिक मशीन से नहीं होगा उनके पास आई स्कैनर से भी अपनी पहचान साबित करने एक मौका रहेगा।

- इस व्यवस्था से वेरीफिकेशन की तकनीकी समस्या काफी हद तक हल होने की संभावना होगी। - बोर्ड ने पिछली दो परीक्षाओं से परीक्षार्थियों की पहचान के लिए आधार वेरीफिकेशन अनिवार्य किया है।

- इसके बाद से परीक्षार्थियों को लगातार तकनीकी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

- हर दिन परीक्षार्थियों को बायोमेट्रिक मशीन से आधार का वेरीफिकेशन नहीं होने के कारण परीक्षा से वंचित होना पड़ रहा है।

ट्रेन हो रही लेट इसीलिए समय पर केंद्र नहीं पहुंच पा रहे
- शुक्रवार को भी बड़ी संख्या में परीक्षार्थी केंद्रों पर देरी से पहुंचने और बायोमेट्रिक मशीन से पहचान नहीं हो पाने के कारण परीक्षा नहीं दे पाए। सुबह की शिफ्ट में जो परीक्षार्थी परीक्षा देने से वंचित हुए थे वे अपनी शिकायत लेकर बोर्ड पहुंचे। परीक्षार्थियों का कहना है कि कोहरे के कारण ट्रेन काफी लेट हो रही है। वहीं सेंटर भी शहर से काफी दूर होने के कारण पब्लिक ट्रांसपोर्ट से समय पर पहुंचना मुश्किल हो रहा है। ऑटो चालक ८०० से लेकर १२०० रुपए तक चार्ज कर रहे हैं।