--Advertisement--

भोपाल

भोपाल

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 01:23 PM IST
राजधानी के जम्बूरी मैदान में स राजधानी के जम्बूरी मैदान में स

भोपाल। किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह ने किसानों को समर्थन मूल्य में बेचे गए गेहूं और धान में 200 रुपए प्रति क्विंटल अलग से देने की घोषणा की। किसानों के बच्चों को 2 करोड़ तक लोन दिए जाएंगे।

-राजधानी के जंबूरी मैदान पर सीएम ने कहा कि कल मौसम अचानक बिगड़ गया। प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश हुई, ओले गिरे। किसानों का नुकसान हुआ, लेकिन आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, कई बार मौसम बिगड़ता है, विपरीत परिस्थितियां आती हैं।

-न मैं रोऊंगा, न किसानों को रोने दूंगा, संकट के पार निकाल ले जाऊंगा। संकट की इस घड़ी में शिवराज सिंह चौहान का ऐलान सुन लो, जितना नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई बीजेपी सरकार करेगी। मैं करुंगा। शिवराज साथ खड़ा है, सरकार और मेरी टीम आपके साथ खड़ी है। चिंता करने की जरूरत नहीं है।

-बारिश और ओलावृष्टि के कारण हुए नुकसान को देखते हुए लग रहा था कि किसानों की संख्या कम रहेगी, लेकिन यहां पर बड़ी संख्या में किसान पहुंचे।

किसान खैरात नहीं मांगता...

-उन्होंने कहा कि किसान भीख और खैरात नहीं मांगता। वह अपनी पसीने की कमाई व उचित दाम चाहता है। बीजेपी सरकार और शिवराज सिंह किसान उसे उचित दाम देगा।
सीएम ने कहा कि सरकार ने पिछले साल 67 लाख मीट्रिक टन गेहूं समर्थन मूल्य में खरीदा, लेकिन किसानों को कुछ कम दे पाए।

-इसलिए मुख्यमंत्री उत्पादक प्रोत्साहन योजना के तहत 200 रुपए प्रति क्विंटल किसानों को दिए जाएंगे। इसके साथ ही किसान पुत्र-पुत्रियों को लोन दिया जाएगा। लोन का 15 फीसदी सरकार भरेगी। साथ ही सात साल तक 15 फीसदी ब्याज भी देगी।

सीएम ने विपक्ष पर भी किया हमला...

-हम किसानों की बात करते हैं तो कुछ लोगों को बड़ी तकलीफ होती है, लेकिन हमारी अालोचना करने वालों से पूछना चाहता हूं कि जब 18 फीसदी ब्याज ली जा रही थी, तब कांग्रेस को किसानों का दर्द नहीं दिखा।

-हमने इसे घटाकर 0 फीसदी किया। दुनिया में किसी ने नहीं सोचा था कि ब्याज जीरो फीसदी हो जाएगा। किसान भाईयों के लिए बिजली का बिल घटाया है।

ये हैं प्रमुख घोषणाएं...
-गेहूं और धान पर 200 रुपए मुख्यमंत्री उत्पादक प्रोत्साहन योजना के तहत दिए जाएंगे।
-गेहूं और धान के समर्थन मूल्य में 200 रुपए बढ़ाने की घोषणा की गई है।
-अब ये 1700 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़कर 2 हजार रुपए हो जाएगा।
-साख सहकारी संस्था समितियों में 4 हजार माइक्रो एटीएम मशीनें लगाई जाएंगी।
-किसान पुत्र-पुत्री लोन दिया जाएगा। इस योजना में 15 फीसदी सब्सिडी सरकार देगी।
-1 लाख का लोन लिया तो 15 हजार सरकार भरेगी। 7 साल तक 5 फीसदी ब्याज सरकार भरेगी।
-एक ब्लॉक में 100 किसान पुत्र-पुत्री शामिल होंगे।
-किसान क्रेडिट कार्ड को रुपए कार्ड में बदलने की घोषणा की गई है।
-पटटेदार किसानों को भी सरकार की सभी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।
-प्रदेश में एक हजार किसान प्रोसेसिंग सेंटर खोले जाएंगे। इसे किसानों को ही दिया जाएगा।
-किसान अपना सामान खुद बेचने के लिए स्वतंत्र होगा। उसके अनाज और सब्जियों की पैकेजिंग कराएंगे।

खाली रही कुर्सियां...नहीं आए किसान

-तमाम दावों के बावजूद किसान मेले में किसानों के आने की संभावना जताई जा रही थी, लेकिन पंडाल के नीचे कुर्सियां खाली ही रहीं। अनुमान दो लाख किसानों के आने का था, बसों से किसानों को लाया भी गया था, लेकिन 15-20 हजार किसान ही महासम्मेलन में पहुंचे। असल में, ओलावृष्टि और बारिश के चलते खड़ी फसल का नुकसान हो गया है, जिससे किसान नहीं आए।

X
राजधानी के जम्बूरी मैदान में सराजधानी के जम्बूरी मैदान में स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..