--Advertisement--

भोपाल

भोपाल

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2018, 04:53 PM IST
कुछ दिन पहले वह गुवाहाटी स्थित कुछ दिन पहले वह गुवाहाटी स्थित

भोपाल। अक्टूबर 2016 में देवी मां कामाख्या मेरे सपने आई थीं। उन्होंने कहा था कि मुझे मेरा जीवन साथी एक साल के अंदर मिल जाएगा, लेकिन तुम उससे प्यार का इजहार नहीं कर सकते हो। अगर तुमने ऐसा किया तो तुम्हारे प्यार की मौत हो जाएगी, लेकिन मेरा प्यार मुझे नहीं मिला, इसलिए मैं जा रहा हूं। खुद को गे बताने वाले 27 वर्षीय रिसर्च स्कॉलर नीलोत्पल सरकार ने सुसाइड नोट में ये सब लिखकर आत्महत्या कर ली। उसकी डेडबॉडी चार दिन बड़े तालाब में मिली है।

-बागसेवनिया से गायब हुए रिसर्चर की लाश मिलने के बाद पुलिस की तलाशी में उसके कमरे की दीवार पर सुसाइड नोट और कागज के करीब 20 नोट्स चिपके मिले हैं।

-उसने खुद को गे बताया है और अपना प्यार नहीं मिलने के दुख में सुसाइड करने की बात कही है।

-इधर, बेटे के गायब होने का पता चलने के बाद डॉक्टर मां ने पति की बीमारी का हवाले देते हुए बेटे को जल्द वापस आने नाकाम अपील भी की थी।

आई लव यू, मैरी मी...
-नीलोत्पल की तलाश में उसके घर पहुंचे बागसेवनिया थाने के विवेचना अधिकारी प्रहलाद चंद साहू ने कमरे का ताला तुड़वाया। अंदर पुलिस को दीवार पर 20 नोट्स चिपके मिले।

-इसमें उसने कुछ यह लिखा, "आई एम नॉट स्ट्रेट, आई एम गे एंड आई एम प्रॉउड ऑफ इट। आई एम गे। मैं अपने प्यार से नहीं मिल सका, लेकिन मेरी इच्छा है कि मेरा अंतिम संस्कार उसी के हाथों से हो। आई लव यू, मैरी मी।"

-इसी तरह उसने नोट पर कई तरह से लिखा है। हर नोट के नीचे उसने अपना नाम नीलोत्पल लिखा है।

अब मैं मरने जा रहा हूं...

-आज 7 फरवरी को पूरा हो गया है। अब मैं खुदकुशी करने जा रहा हूं। मैं उससे इजहार करूंगा, लेकिन भगवान आप उसे कुछ नहीं करना क्योंकि मैं मरने जा रहा हूं।

बेटा लौटा आ नहीं तो बिग लॉस हो जाएगा- मां
-बेटा तू कहां है। हम लोग परेशान हैं। पापा बीमार हैं और तुझे याद कर रहे हैं। मैं उन्हें तेरे बारे में नहीं बता सकती हूं। मेरी बात सुन रहे हो तो जहां भी हो वापस आ जाओ। अगर तुम नहीं आए तो बड़ा लॉस हो जाएगा। नीलोत्पल की मां ने लड़खड़ाती आवाज में वीडियो जारी कर बेटे को वापस आने की नाकाम कोशिश की थी। वीडियो उन्होंने नीलोत्पल के फेसबुक पेज पर सुसाइड नोट के साथ जारी वीडियो सामने आने के बाद किया था।

7 फरवरी को निकल गया था...
-हरिद्वार निवासी 27 वर्षीय नीलोत्पल सरकार पिता निर्मलेंदू सरकार साकेत नगर में फुलेश्वर साहू के यहां किराए से रहते थे। वह एम्प्री में नैनो टेक्नॉलॉजी में अगस्त 2017 में छह महीने की रिसर्चर के लिए आया था। 7 फरवरी की शाम करीब साढ़े 7 बजे उसने बाई को खाना बनाने से मना कर दिया। इसके बाद वह घर से निकल गया, तब से नहीं लौटा। मकान मालिक फुलेश्वर साहू ने बागसेवनिया थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

X
कुछ दिन पहले वह गुवाहाटी स्थितकुछ दिन पहले वह गुवाहाटी स्थित
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..