Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News »News» Love Does Not Get Hurt, Gay Did The Suicides

काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं

Anup Dubey | Last Modified - Feb 13, 2018, 10:13 AM IST

भोपाल के बागसेवनिया से चार दिन से गायब इस रिसर्चर की लाश शनिवार को बड़े तालाब में मिली है।
  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    कुछ दिन पहले वह गुवाहाटी स्थित कामाख्या मंदिर गया था।

    भोपाल।अक्टूबर 2016 में देवी मां कामाख्या मेरे सपने आई थीं। उन्होंने कहा था कि मुझे मेरा जीवन साथी एक साल के अंदर मिल जाएगा, लेकिन तुम उससे प्यार का इजहार नहीं कर सकते हो। अगर तुमने ऐसा किया तो तुम्हारे प्यार की मौत हो जाएगी, लेकिन मेरा प्यार मुझे नहीं मिला, इसलिए मैं जा रहा हूं। खुद को गे बताने वाले 27 वर्षीय रिसर्च स्कॉलर नीलोत्पल सरकार ने सुसाइड नोट में ये सब लिखकर आत्महत्या कर ली। उसकी डेडबॉडी चार दिन बड़े तालाब में मिली है।

    -बागसेवनिया से गायब हुए रिसर्चर की लाश मिलने के बाद पुलिस की तलाशी में उसके कमरे की दीवार पर सुसाइड नोट और कागज के करीब 20 नोट्स चिपके मिले हैं।

    -उसने खुद को गे बताया है और अपना प्यार नहीं मिलने के दुख में सुसाइड करने की बात कही है।

    -इधर, बेटे के गायब होने का पता चलने के बाद डॉक्टर मां ने पति की बीमारी का हवाले देते हुए बेटे को जल्द वापस आने नाकाम अपील भी की थी।

    आई लव यू, मैरी मी...
    -नीलोत्पल की तलाश में उसके घर पहुंचे बागसेवनिया थाने के विवेचना अधिकारी प्रहलाद चंद साहू ने कमरे का ताला तुड़वाया। अंदर पुलिस को दीवार पर 20 नोट्स चिपके मिले।

    -इसमें उसने कुछ यह लिखा, "आई एम नॉट स्ट्रेट, आई एम गे एंड आई एम प्रॉउड ऑफ इट। आई एम गे। मैं अपने प्यार से नहीं मिल सका, लेकिन मेरी इच्छा है कि मेरा अंतिम संस्कार उसी के हाथों से हो। आई लव यू, मैरी मी।"

    -इसी तरह उसने नोट पर कई तरह से लिखा है। हर नोट के नीचे उसने अपना नाम नीलोत्पल लिखा है।

    अब मैं मरने जा रहा हूं...

    -आज 7 फरवरी को पूरा हो गया है। अब मैं खुदकुशी करने जा रहा हूं। मैं उससे इजहार करूंगा, लेकिन भगवान आप उसे कुछ नहीं करना क्योंकि मैं मरने जा रहा हूं।

    बेटा लौटा आ नहीं तो बिग लॉस हो जाएगा- मां
    -बेटा तू कहां है। हम लोग परेशान हैं। पापा बीमार हैं और तुझे याद कर रहे हैं। मैं उन्हें तेरे बारे में नहीं बता सकती हूं। मेरी बात सुन रहे हो तो जहां भी हो वापस आ जाओ। अगर तुम नहीं आए तो बड़ा लॉस हो जाएगा। नीलोत्पल की मां ने लड़खड़ाती आवाज में वीडियो जारी कर बेटे को वापस आने की नाकाम कोशिश की थी। वीडियो उन्होंने नीलोत्पल के फेसबुक पेज पर सुसाइड नोट के साथ जारी वीडियो सामने आने के बाद किया था।

    7 फरवरी को निकल गया था...
    -हरिद्वार निवासी 27 वर्षीय नीलोत्पल सरकार पिता निर्मलेंदू सरकार साकेत नगर में फुलेश्वर साहू के यहां किराए से रहते थे। वह एम्प्री में नैनो टेक्नॉलॉजी में अगस्त 2017 में छह महीने की रिसर्चर के लिए आया था। 7 फरवरी की शाम करीब साढ़े 7 बजे उसने बाई को खाना बनाने से मना कर दिया। इसके बाद वह घर से निकल गया, तब से नहीं लौटा। मकान मालिक फुलेश्वर साहू ने बागसेवनिया थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    बाघसेवनिया से गायब नीलोत्पल सरकार की लाश बड़े तालाब में मिली है।
  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    उसके कमरे में 20 नोट्स पिनअप थे।
  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    उसने गर्दन पर फूल का टैटू गुदवाया था।
  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    नीलोत्पल सरकार।
  • काली मां ने सपने में आकर जो माेहलत दी थी, वह आज खत्म हो गई...मैं मरने जा रहा हूं
    +5और स्लाइड देखें
    कमरे में मिला सुसाइड नोट।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Love Does Not Get Hurt, Gay Did The Suicides
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×