भोपाल

--Advertisement--

संडे को दिखेगा सुपरमून, धरती के २५४०८ किलोमीटर पास आ जाएगा

संडे को दिखेगा सुपरमून, धरती के २५४०८ किलोमीटर पास आ जाएगा

Danik Bhaskar

Dec 01, 2017, 03:51 PM IST

भोपाल। वर्ष 2017 में पहली बार 3 दिसंबर को चंद्रमा औसत आकार से बड़े आकार में नजर आएगा। यानी यह सुपरमून होगा। इस रात चंद्रमा आम पूर्णिमा की रात को दिखने वाले चंद्रमा की तुलना में 7 प्रतिशत बड़ा तथा 16 प्रतिशत ज्यादा चमकदार दिखेगा। खगोल विज्ञानियों के मुताबिक जब चंद्रमा 3 लाख 60 हजार किलोमीटर से कम दूरी पर रहता है तब सुपरमून कहलाता है।

-चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर अंडाकार पथ में परिक्रमा करता है इसकी औसत दूरी 382900 किमी होती है। किसी पूर्णिमा की रात जब पृथ्वी के केंद्र से चंद्रमा की दूरी 3 लाख 60 हजार किमी से कम रह जाती है तो उसे सुपरमून कहा जाता है।

जब दूर जाता है तो कहलाता है माइक्रोमून
पृथ्वी के उपग्रह चंद्रमा की दूरी जब 4 लाख 5 हजार किमी से दूर हो जाती है तो माइक्रोमून कहा जाता है। साइंस कम्यूनिकेटर सारिका घारु ने बताया कि माइक्रोमून की तुलना में 3 दिसंबर के मून का आकार 14 प्रतिशत बड़ा और 30 प्रतिशत ज्यादा चमकीला दिखाई देगा। इस रात्रि के दौरान यह दूरी घटते हुए 357492 किमी रह जाएगी।

69 साल पहले यह हुआ था
चंद्रमा अंडाकार कक्षा में धरती की परिक्रमा करते हुए वैसे तो हर माह कुछ करीब आता है लेकिन 69 साल पहले 26 जनवरी 1948 को चंद्रमा 3 लाख 56 हजार 509 किलोमीटर दूर होगा। यानी सामान्य से 27 हजार 891 किलोमीटर और पास आया था।

एक्स्ट्रा सुपरमून

पिछले साल 14 नवंबर को यह 3 लाख 56 हजार किमी दूरी पर था इसलिए इसे एक्सट्रा सुपरमून कहा जाएगा।

-कब देखें शाम 5 बजे से से शाम 7.30 बजे तक सबसे करीब की स्थिति में होगा। इससे पहले भी सुपरमून हुए लेकिन वे देर रात या सुबह-सुबह होते थे।

-सुपरमून की रात भोपाल में बिड़ला मंदिर, शौर्य स्मारक, मनुआभान टेकरी, वल्लभभवन के सामने स्थित ध्वजस्थ्ल, वीआईपी रोड पर राजभोज की प्रतिमा की ओर मून देखा जा सकता है।

Click to listen..