--Advertisement--

पैगंबर साहब के अमन के पैगाम के साथ निकला जुलूस,लोगों को दिलाई सद्भाव कायम रखने की शपथ

पैगंबर साहब के अमन के पैगाम के साथ निकला जुलूस,लोगों को दिलाई सद्भाव कायम रखने की शपथ

Danik Bhaskar | Dec 02, 2017, 08:37 PM IST
फिजा ने तलवार बाजी का हुनर भी द फिजा ने तलवार बाजी का हुनर भी द

भोपाल। राजधानी में शनिवार को मुस्लिम समाज के लोगों ने पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब की सालगिरह पर ईद मिलाद-उन-नबी का जश्न मनाया। इस मौके पर मस्जिदों और घरों में कुरान ख्वानी हुई। नारा-ए-तकबीर अल्लाह हो अकबर के नारों के साथ नबी की शान में जुलूस निकाले गए। आल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी के मंगलवारा से निकले जुलूस के पहले जलसा भी हुआ। इसमें वक्ताओं ने कहा कि हमें हजरत मोहम्मद साहब के मोहब्बत, भाईचारा और अमन के बताए रास्ते पर चलना चाहिए।


-सांसद आलोक संजर, विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह, अल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी के अध्यक्ष डॉ. औसाफ शाहमीरी खुर्रम और कांग्रेस नेता आरिफ मसूद ने एक-दूसरे का हाथ उठाकर जलसे में शरीक लोगों को शहर व प्रदेश में अमनो-अमान और सद्भाव बरकरार रखने की शपथ दिलाई। जलसे में सांसद आलोक संजर ने कहा कि भोपाल शहर कौमी एकता व सद्भाव के लिए जाना जाता है। भोपाल की इस आन-बान-शान को कायम रखें।

मोहम्मद साहब ने दिया अमन का पैगाम

-डॉ. खुर्रम ने कहा कि हजरत मोहम्मद साहब ने हमेशा अमन का पैगाम दिया। उनके इसी पैगाम को जन-जन तक पहुंचाने की जरूरत है। आरिफ मसूद ने कहा कि प्यारे नबी ने इंसानियत के अनेक काम किए। उनसे प्रेरणा लेकर हमें भी अच्छे काम करना चाहिए। उनकी सालगिरह पर हम सब यह शपथ लें कि शहर व प्रदेश में अमन व भाईचारा कायम रखेंगे। कमेटी के जिलाध्यक्ष मकबूल अहमद मंसूरी ने कहा कि पैगंबर साहब का भाईचारा और मानवता का पैगाम हमारे लिए प्रेरणादायी है। इस मौके पर संयोजक अब्दुल नफीस, व मंसूरी ने अतिथियों का इस्तकबाल किया।


अखाड़े के लोगों का सम्मान
इस मौके पर जलसे के मंच से मसूद, डॉ. खुर्रम व नफीस आदि ने अखाड़ों के उस्तादों का पगड़ी बांधकर सम्मान किया गया। इतवारा में हिंदू अखाड़ा मंच ने जुलूस का पुष्प वर्षा का स्वागत किया। रास्ते में कई संस्थाओं ने स्वागत मंच बनाए थे।

साहसिक करतब दिखाए
ढोल व शहनाई की धुन पर निकले जुलूस में अखाड़े के युवकों ने कई स्थानों पर साहसिक करतबों का प्रदर्शन किया। बग्घियों व घोड़ों पर सवार बच्चे आकर्षण का केंद्र रहे। कई युवक हरे रंग के परचम थामे हुए थे। डीजे पर नातिया कव्वाली व सूफियाना नगमे बज रहे थे। जुलूस आजाद मार्केट, छावनी, इतवारा, इस्लामपुरा, बुधवारा, जामा मस्जिद, पीरगेट होता हुआ इमामी गेट पहुंचा।


यहां से भी निकले जुलूस
इसी तरह अशोका गार्डन, 80 फीट रोड से भी मिलादुन्नबी का जुलूस निकाला गया। इसमें जुलूस में बड़ी संख्या में लोग शामिल थे। कमेटी के महासचिव तौकीर निजामी ने बताया कि जुलूस लिली टॉकीज चौराहा पहुंचा। यहां दुआ कराई गई। दूसरी र संयुक्त संघर्ष मोर्चा मप्र व खेल अखाड़ा प्रशिक्षण संस्था के तत्वावधान में भी इतवारा चौराहा से जुलूस निकाला गया। प्रवक्ता मुजाहिद मोहम्मद खान, जिलाध्यक्ष जाहिद खान व अफजल मोहम्मद ने बताया कि जुलूस में बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।