भोपाल

  • Home
  • Mp
  • Bhopal
  • Rain accompanied by lightning thunder and lightning, anxiety on the farmer
--Advertisement--

रात को बिजली गरज व चमक के साथ हुई बारिश से मौसम में गिरावट

रात को बिजली गरज व चमक के साथ हुई बारिश से मौसम में गिरावट

Danik Bhaskar

Mar 08, 2018, 11:07 AM IST
भोपाल समेत प्रदेश के कई हिस्सो भोपाल समेत प्रदेश के कई हिस्सो

भोपाल. जोरदार गरज चमक के साथ बुधवार देर रात भोपाल समेत प्रदेश के कई जिलों में बारिश हुई। इससे तापमान में अचानक गिरावट आ गई। रात को भी रुक-रुककर बूंदाबांदी होती रही। ऐसे में गुरुवार को सुबह से मौसम का मिजाज बदला रहा। शहर के कुछ क्षेत्रों में बिजली गिरने की खबरें भी आ रही हैं। बूंदाबांदी से 20 दिन बाद भोपाल के तापमान में 1.8 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

-मौसम में आए इस बदलाव ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। इससे किसानों की खड़ी फसल को नुकसान होने की पूरी संभावना बन गई है। गत माह हुई बेमौसम बारिश ने किसानों की कमर तोड़ दी थी। मप्र के कई जिलों में बारिश और ओले के चलते फसल पूरी तरह से खराब हो गई थी। इसमें छतरपुर, पन्ना, बैतूल, जबलपुर, खंडवा, सागर, विदिशा, सीहोर आदि जिलों में किसानों को काफी नुकसान हुआ था।

-वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि अगले 24 घंटे में भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद और उज्जैन संभागों में कहीं- कहीं बारिश होने और ओले गिरने के आसार हैं। टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा जिलों में भी कहीं- कहीं बादल गरजने और बारिश होने का अनुमान है।

अचानक हुई बारिश से फसलों को नुकसान

-मौसम में अचानक हुए बदलाव ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। इस बारिश से चना औऱ गेहूं की फसल को भारी नुकसान हो सकता है। अगर मौसम इसी तरह रहा है किसानों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। हालांकि मौसम विभाग ने किसानों को दो दिन पहले ही सावधान रहने को कहा था। अगले चौबीस घंटों में फिर तेज बारिश और ओले गिरने के आसार बन रहे है जो फसलों को काफी नुकसान पहुंचा सकते है। पिछले माह हुई बेमौसम बारिश व ओले गिरने से किसानों को भारी नुकसान हुआ था। कई जिलों में बारिश और ओले से फसल चौपट हो गई थी।

ये है मौसम बदलने की वजह
-मौसम में बदलाव की वजह उत्तर से आ रही सूखी हवा और दक्षिण से आ रही नम हवा मप्र में आकर आपस में मिल रही हैं। बुधवार रात आठ बजे के बाद एकदम मौसम बदला और बादल गरजे। रात नौ से साढ़े नौ बजे तक बूंदाबांदी हुई। दिन का तापमान 30.8 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 1 डिग्री कम रहा। इससे पहले 15 फरवरी को दिन का तापमान सामान्य से 1 डिग्री कम था।
40 मिनट पहले हो गई थी शाम
-घने बादल छाने का असर शाम के ढलने पर भी हुआ। बुधवार को शाम सूर्यास्त से करीब 40 मिनट पहले 5.50 बजे ही ऐसा अंधियारा घने लगा था। सड़कों से गुजर रहे वाहनों के हेड लाइट जलने लगे थे।
मौसम में बदलाव की एक बड़ी वजह यह भी
वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि जमीन से 4 किमी ऊपर आसमान में 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली तेज हवा चल रही थी। मौसम में बदलाव की एक बड़ी वजह यह भी है।
आगे क्या

-अगले तीन दिन ऐसा ही मौसम रहेगा। मौसम विज्ञानी एके शुक्ला ने बताया कि अगले तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना है।

Click to listen..