--Advertisement--

अचानक सामने आ गया टाइगर, जान बचाने को निकाली ये तरकीब

अचानक सामने आ गया टाइगर, जान बचाने को निकाली ये तरकीब

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 05:23 PM IST
बुधनी क्षेत्र में बाघ के हमले बुधनी क्षेत्र में बाघ के हमले

भोपाल। बुधनी से लगे जंगल में खुले में घूमते बाघों के हमले बढ़ते जा रहे हैं। मवेशियों और कई लोग इस इलाके में बाघों के हमले का शिकार हुए हैं। बुधवार को टाइगर बुधनी इलाके के चांदला ग्राम से लगे जंगल मे मवेशी चराने गए चरवाहा धन्नू लाल पर अचानक बाघ ने हमला कर दिया।

- इससे बचने के लिए चरवाहे धन्नूलाल ने जोर से चीखना शुरू कर दिया। हाथ में डंडे से बाघ को मारा भी। उसके पैर और पीठ में टाइगर के हमले के निशान देखे जा सकते हैं। खून काफी बह गया है, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


ये है पूरा मामला
- चरवाहे धन्नू लाल ने बताया कि वह जंगल में अंदर तक पशुओं को लेकर चला गया था। इस बीच एक बकरी दिखाई नहीं दी, जिससे उसे ढूंढ रहा था। इसी बीच पीछे से बाघ के अचानक हमला कर दिया। इस हमले से जब तक मैं संभालता, मेरे पैर और पीठ पर पंजे से वार कर चुका था।

- खून बहने लगा, लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी, अगर मैं रुकता तो मेरी जान चली जाती। इस दौरान मैं जोर से चिल्लाया और हाथ में डंडा था, जिससे बाघ को मारने लगा।

- डंडे से एक साथ बाघ पर कई वार किए। इससे वह मुझसे दूर रहा और और मैं वहां से जान बचाकर भाग आया।

- बाद में वन अमले के लोग पहुंच गए। उन्होंने शोर-शराबा किया, लेकिन तब तक बाघ जंगल में अंदर चला गया था।

वन अमले ने पहुंचकर अस्पताल पहुंचाया

हालांकि गन्नूलाल को पीठ और पैर में चोटें आई है, खबर लगते ही बुधनी वन अमला मौके पर पहुंचा ओर घायल धन्नू लाल को बुधनी अस्पताल ले कर आया जहां घायल को प्राथमिक उपचार दिया जा रहा है, हालांकि बुधनी जंगल मे बाघों के मूमेंट ओर पिछले समय दो लोगों पर हमले के बाद बुधनी वन अमला लगातार लोगो को सचेत कर सावधान कर रहा है साथ ही जंगल मे ना जाने की सलाह दी जा रही है।